fbpx

ट्रेड वॉर:चीन अपनी खराब नीतियों के कारण परेशानियों में है’: ट्रंप

अमेरिका और चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर में लागातार अमरिकी राष्ट्रपति कड़ा रूख अपनाते हुए लागतार चीन के खिलाफ नए नए बयान जारी कर रहै है।और यह युद्द रुकने की बजाए और भी ज्यादा बढ़ता ही जा रहा है।इस युद्ध में एक बार फिर से ट्रंप ने चीन के खिलाफ एक बयान दिया है औऱ अपनी प्रशंसा भी की है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उनकी सरकार ने व्यापार में चीन के अनुचित व्यवहार को समाप्त कराने के लिए ‘अब तक के सबसे कड़े कदम उठाए हैं। ट्रंप इस साल जून से अपने यहां चीन से आने वाले माल पर धीर धीरे आयात शुल्क बढ़ा रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने शुक्रवार को ओहियो में एक चुनावी रैली में कहा, “चीन की अनुचित व्यापारिक गतिविधियों को रोकने के लिए हमने अब तक के सबसे कड़ कदम उठाए हैं।” श्रोताओं ने उनकी इस बात पर खुशी प्रकट की।

ट्रंप ने अपनी चीन नीति को अपने प्रशासन की सबसे बड़ी उपलब्धियों के रूप में गिनाया और कहा कि इससे अमेरिका की अर्थव्यवस्था को मजबूती देने एवं रोजगार के सृजन में मदद मिली है।

ये भी पढ़ें :-  Delhi Assembly Election 2020: AAP के स्वास्थ्य के दावों की खुली पोल, बजट का 48 फीसदी हिस्सा भी नहीं हुआ खर्च

चीन के साथ द्विपक्षीय व्यापार में अमेरिका का आयात उसके निर्यात से 500 अरब डालर के बरारब कम है। ट्रंप का कहना है कि इस तरह का व्यापार लंबे समय तक नहीं टिक सकता।उन्होंने चीन से आयात किए जाने वाले 250 अरब डालर के माल पर 25 प्रतिशत का अतिरिक्त आयात शुल्क लगा दिया है। साथ ही अमेरिका ने चीन से परमाणु प्रौद्योगिकी के व्यापार पर भी कई अंकुश लगा दिए हैं।

चीनी दूतावास ने बीते बुधवार को कहा था कि चीन और भारत को व्यापार संरक्षणवाद से मुकाबले के लिए अपना सहयोग मजबूत करने की जरूरत है। चीन ने अमेरिका पर एकतरफा पहल के जरिए व्यापार विवाद भड़काने का आरोप लगाया। दूतावास के प्रवक्ता, जी रोंग ने कहा था, ‘दो बड़े विकासशील देश और बड़े उभरते बाजार होने के नाते, चीन और भारत दोनों सुधार और अर्थव्यवस्था को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण चरण में हैं।’

जी अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध से संबंधित मीडिया के सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रीय सुरक्षा और ‘मुक्त व्यापार’ के नाम पर एकतरफा व्यापार संरक्षणवाद को बढ़ावा देने से न केवल चीन का आर्थिक विकास प्रभावित होगा, बल्कि यह भारत की बढ़ती अर्थव्यवस्था में भी अड़चन पैदा करेगा।’ उन्होंने कहा, ‘चीन और भारत बहुध्रुवीय व्यापार प्रणाली और मुक्त व्यापार की रक्षा के लिए समान हित साझा करते हैं।’

ये भी पढ़ें :-  रिफंड या नोटिस के बहाने हो सकते हैं फ्रॉड के शिकार, किसी भी लिंक पर साझा न करें पर्सनल व वित्तीय जानकारी

अब देखना होगा की चीन और अमेरिका के बीच चल रहा यह ट्रेड वॉर कहां तक जाता है औऱ इसके कारण विश्व की और भारत की अर्थव्यवस्था पर क्या असर होता है।

 

1 total views, 1 views today

Siddharth Sharma

siddharth sharma is a budding journalist who has great interest in exploring himself to new trends of journalism and always bring out the new and interesting part in every news and is always dedicated to his work