fbpx

National lipstick day: ऐसे हुई थी लिपस्टिक लगाने की शुरुआत

आज के दौर में लड़कियाँ अपने आप को खूबसूरत बनाने के लिए मेकअप का इस्तेमाल करती है| जैसा की आपने सुना ही होगा मेकअप लड़कियों का गहना होता है| तो इसी में लिपस्टिक भी एक ऐसी चीज जिसे लगाकर लड़कियां खुद को कॉंफिडेंट फील करती है|

लड़कियां अक्सर अपने अलग अलग कपड़े के साथ-साथ अलग अलग तरह की लिपस्टिक लगाना पसंद करती है| तो वहीं लिपस्टिक के एक रंग के इतने सारे दुसरे कलर बाजार में मौजूद होते है जिसे सुनकर सिर चकराने लग जाता है|

लेकिन आज हम आपको नेशनल लिपस्टिक डे के मौके पर दुनिया में मेकअप ट्रेंड की शुरुआत कब और कैसे हुई?

इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के अनुसार 5000 साल पहले सुमेरिन आदमी और औरतें कीमती रत्नों को पीसकर उसका इस्तेमाल होठों को सजाने के लिए करते थे| वहीं इजिप्ट की किल्योपेट्रा कीड़ों को मारकर अपने होठों को लाल रंग से सजाने का काम करती थीं| इतना ही नहीं इंडस वैली सिविलाइजेशन की औरतें गेरू का इस्तेमाल लिपस्टिक के तौर पर करती थीं| हालाकिं उस दौर में केवल शक्तिशाली और धनवान मिस्री औरतें ही लिपस्टिक का इस्तेमाल हर रोज करती थीं|

ये भी पढ़ें :-  उन्नाव कांड: जिंदा जलाई गयी गैंगरेप पीड़िता की हालत गंभीर

अरब वैज्ञानिक ने बनाई थी पहली लिपस्टिक

इतिहास में माना गया है की मिस्र में औरतों का लिपस्टिक लगाना ओरल सेक्स का संकेत समझा जाता था| इजिप्ट में देह व्यापर करने वाली औरते अपने सेक्स पार्टनर को रिझाने के लिए लिपस्टिक का प्रयोग करती थी| 19वीं शताब्दी के आखिरी समय तक, एक फ्रांसीसी कॉस्मेटिक कंपनी गुएरलेन ने लिपस्टिक की खोज शुरू कर दिया था|

1884 में पहली व्यावसायिक लिपस्टिक का आविष्कार किया गया था| दररसल यह खोज फ्रांस के पेरिस में इत्र निर्माताओं द्वारा किया गया|

हालाकिं सबसे पहले 9वीं ईसवी में ठोस लिपस्टिक का अविष्कार अरब वैज्ञानिक अबुलकोसिस ने किया था| वहीं  सबसे अधिक समय तक टिकने वाली पहली लिपस्टिक की खोज 1950 में की गई थी|

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.