fbpx

Share Market : 17 साल के बाद एक महीने में आई सबसे बड़ी गिरावट

जुलाई में शेयर बाजार का हाल 2002 के बाद सबसे बुरा रहा है। इस दौरान निफ्टी 5.68 फीसदी और सेंसेक्स 4.86 फीसदी गिर चुका है। पिछले 17 साल में किसी एक महीने में होने वाली यह सबसे बड़ी गिरावट है।

जुलाई 2002 में निफ्टी 50 करीब 9.3 फीसदी और सेंसेक्स 8 फीसदी तक गिरा था। सामान्य तौर पर जुलाई में बाजार में तेजी रहती है। लेकिन मॉनसून में देरी, कंपनियों के कमजोर नतीजे, सुस्त इकोनॉमिक ग्रोथ और कई अन्य कारणों से बाजार में कमजोरी है।

सिर्फ 5 शेयरों ने दिया लाभ

इस दौरान निफ्टी 50 के सिर्फ 5 शेयरों ने पॉजिटिव रिटर्न दिया और 45 शेयरों का रिटर्न नेगेटिव रहा। जिन पांच शेयरों का रिटर्न पॉजिटिव रहा उनमें  Asian Paints, Infosys, Sun Pharma, Kotak Bank और PowerGrid रहा। इस  बीच सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयरों में Titan, Tata Motors, Coal India, GAIL, Axis Bank, Bajaj Finserv, Eicher Motors, M&M और YES Bank रहा। इनमें जुलाई के दौरान 15 फीसदी से ज्यादा गिरावट आ चुकी है।

ये भी पढ़ें :-  मंत्रियों का काम अर्थव्यवस्था सुधारना है,'कॉमेडी सर्कस' चलाना नहीं:- प्रियंका गांधी

बाजार के लिए जुलाई का महीना बहुत बुरा रहा है। इसकी सबसे बड़ी वजह है कि सुपर रिच पर ज्यादा टैक्स, कमजोर नतीजे, कमजोर मॉनसून के साथ कुछ सेक्टर्स पर सरकार की सख्ती से बाजार में कमजोरी है। इसके साथ ही अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर से हालात और बिगड़ गए हैं।

निफ्टी के करीब 22 शेयर जुलाई में 10 से 20 फीसदी नीचे हैं। सबसे बड़ी गिरावट स्मॉल और मिडकैप इंडेक्स में देखे को मिली है। BSE Midcap index 7.8 फीसदी गिर चुका है। वहीं BSE Smallcap Index जुलाई में 10 फीसदी से कुछ ज्यादा गिरा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.