fbpx

पाद के कारण रोकी गयी सदन की कार्रवाई

भारत समेत लोकतांत्रिक सभी देशों की संसद में पक्ष-विपक्ष के बीच कई मुद्दों पर हंगामे होते रहे हैं। जिसके कारण कई बार सदन की कार्यवाही तक स्थगित करनी पड़ी है। लेकिन हाल ही में एक मामला सामने आया है जो कि काफी हैरान कर देने वाले है और कोई सोच भी नहीं सकता इस कारण सदन की करवाई रोकनी पड़ेगी।

खबर केन्या की असेंबली से है, यहां के होमा बे काउंटी असेंबली की कार्यवाही हंगामे के कारण नहीं बल्कि किसी सदस्य के पाद के कारण कार्यवाही रोकनी पड़ी। सदन में काफी गर्मी थी। संसद सदस्य कागजों से हवा करते हुए बहस में जुटे थे। तभी अचानक से वहां दुर्गंध फैल गई। नाक दबाए सदस्य एक दूसरे पर आरोप लगाने लगे कि उन्होंने पाद मारकर बदबू फैला दी। एक सदस्य जूलियस गाया ने तो स्पीकर से कहा कि हममें से किसी ने फीजा को प्रदूषित कर दिया है।

जिसके बाद स्पीकर एडविन काकाछ ने सदन की कार्यवाही 10 मिनट के लिए रोक दी और सदस्यों से बाहर जाने को कहा। साथ ही स्पीकर ने संसद कर्मचारियों से कहा कि जल्दी से रूम फ्रेशनर का छिड़काव कर संसद की आवोहवा को दुरुस्त करें। स्पीकर ने कहा कि जो भी फ्लेवर मिले, स्ट्रॉबेरी या वनीला, जल्दी लाया जाए। इसके बाद पुन: सदन की कार्रवाई शुरू हो सकी।

ये भी पढ़ें :-  SSC CGL TIER 1 रिजल्ट घोषित, ऐसे करें चेक

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.