fbpx

बकरीद स्पेशल:- बकरे की जगह दी जाती थी इंसान की कुर्बानी, जानिए वजह

सोमवार यानि कि कल पूरे देश में ईद-उल-जुहा मनाया जाएगा। इस त्योहार को कई नाम से जाना जाता है जिसमें से खास है बकरा ईद, बकरीद, ईद-उल-अजहा या ईद-उल जुहा ।

यह भारत में 12 अगस्त को मनाई जाएगी। इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक 12वें महीने धू-अल-हिज्जा की 10 तारीख को बकरीद मनाई जाती है। दरअसल, यह तारीख रमजान के पवित्र महीने के खत्मा होने के लगभग 70 दिनों के बाद आती है।

बकरीद का त्योहार मुख्य रूप से कुर्बानी के पर्व के रूप में मनाया जाता है। इस दिन बकरे की कुर्बानी दी जाती है। आपको बता दें कि इस्लाम धर्म में मीठी ईद के बाद बकरीद सबसे प्रमुख त्योहार है।

बकरीद का महत्व

बकरीद का महत्व है कि ये दिन फर्ज-ए-कुर्बान का दिन होता है। इस्लाम में गरीबों और मजलूमों का खास ध्यान रखने की परंपरा है। इसी वजह से बकरीद पर भी गरीबों का विशेष ध्यान रखा जाता है। इस दिन कुर्बानी के बाद गोश्त के तीन हिस्से किए जाते हैं। इन तीनों हिस्सों में से एक हिस्सा खुद के लिए और शेष दो हिस्से समाज के गरीब और जरूरतमंद लोगों में बांट दिए जाते हैं। ऐसा करके मुस्लिम इस बात का पैगाम देते हैं कि अपने दिल की करीबी चीज़ भी हम दूसरों की बेहतरी के लिए अल्लाह की राह में कुर्बान कर देते हैं।

ये भी पढ़ें :-  ट्रोलर्स ने सोनाक्षी को कहा सलमान की चमची,सोनाक्षी बोलीं- 'हूं मैं, क्या कर लोगे...'

क्या है रहस्य

इस्लाम को मानने वाले लोगों के लिए बकरीद का विशेष महत्व है। इस्लामिक मान्यता के अनुसार हजरत इब्राहिम अपने बेटे हजरत इस्माइल को इसी दिन खुदा के हुक्म पर खुदा की राह में कुर्बान करने जा रहे थे। तब अल्लाह ने उनके नेक जज्बे को देखते हुए उनके बेटे को जीवनदान दे दिया। यह पर्व इसी की याद में मनाया जाता है। इसके बाद अल्लाह के हुक्म पर इंसानों की नहीं जानवरों की कुर्बानी देने का इस्लामिक कानून शुरू हो गया।

क्यों दी जाती है कुर्बानी?

जब हजरत इब्राहिम कुर्बानी दे रहें थे तब उनको लगा कि कुर्बानी देते समय उनकी भावनाएं आड़े आ सकती हैं, इसलिए उन्होंने अपनी आंखों पर पट्टी बांध ली थी। अपना काम पूरा करने के बाद पट्टी हटाई तो उन्होंने अपने पुत्र को अपने सामने जिन्दा खड़ा हुआ देखा। बेदी पर कटा हुआ दुम्बा (जोकि सउदी में पाया जाता है। दुम्बा भेंड़ जैसा जानवर है) पड़ा हुआ था, तभी से इस मौके पर कुर्बानी देने की प्रथा है।

ये भी पढ़ें :-  सलमान खान ने रश्मि को बताई अरहान की सच्चाई

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.