fbpx

बृहस्पति देव की पूजा से विवाह संबंधी समस्याएं होंगी दूर

हिंदू धर्म में हर दिन किसी न किसी भगवान को अर्पित है। ऐसे ही बृहस्पतिवार का दिन भगवान बृहस्पति देव को अर्पित है। इस दिन भगवान बृहस्पति की पूजा का विधान है। इस पूजा से परिवार में सुख-शांति रहती है। जल्द विवाह के लिए भी गुरुवार का व्रत किया जाता है।

ऐसे रखें बृहस्पति देव का व्रत-

  • इनकी विधि-विधान के अनुसार की जानी चाहिए। अगर आपने व्रत का संकल्प लिया है तो व्रत वाले दिन सुबह उठकर बृहस्पति देव का पूजन करना चाहिए।
  • बृहस्पति देव का पूजन पीली वस्तुएं,  पीले फूल,  चने की दाल,  मुनक्का,  पीली मिठाई, पीले चावल और हल्दी चढ़ाकर किया जाता है।
  • केले के पेड़ की भी पूजा की जाती है।
  • भगवान की कथा और पूजन के समय मन, कर्म और वचन से शुद्ध होकर मनोकामना पूर्ति के लिए बृहस्पतिदेव से प्रार्थना करनी चाहिए।
  • जल में हल्दी डालकर केले के पेड़ पर चढ़ाएं।
  • केले की जड़ में चने की दाल और मुनक्का चढ़ाएं साथ ही दीपक जलाकर पेड़ की आरती करें।
  • दिन में एक समय ही भोजन करें।
  • खाने में चने की दाल या पीली चीजें खाएं।
  • इस दिन  नमक न खा‌एं।
  • पीले वस्त्र पहनें, पीले फलों का इस्तेमाल करें।
  • पूजन के बाद भगवान बृहस्पति की कथा सुने।
ये भी पढ़ें :-  गुजरात: मुख्यमंत्री रूपाणी के लिए 191 करोड़ का विमान खरीदा गया

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.