fbpx

1 सिंतबर को है हरतालिका तीज, ऐसे करें पूजन

हरियाली तीज के बाद देशभर में अब हरतालिका तीज का त्यौहार 1 सितंबर को मनाया जाएगा। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं। कहा जाता है कि कुवांरी लड़कियों के लिए भी यह व्रत खास है।

तीज भाद्र माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है।  इसे गौरी तृतीया व्रत भी कहते हैं।

इस व्रत को कुवारी कन्याएं अपने लिए मनचाहें पति पाने और विवाहित महिलाएं अखंड सौभाग्य पाने के लिए करती है। यह व्रत बड़ी ही विधि-विधान से किया जाता है।

पूजन विधि:-

  • इस व्रत में महिलाएं बिना कुछ खाएं-पीएं रहती है।
  • पूजन रात भर किया जाता है।
  • पूजन में बालू के भगवान शंकर व माता पार्वती का मूर्ति बनाकर किया जाता है और एक चौकी पर शुद्ध मिट्टी में गंगाजल मिलाकर शिवलिंग, रिद्धि-सिद्धि सहित गणेश, पार्वती एवं उनकी सहेली की प्रतिमा बनाई जाती है।
  • प्रतिमा बनातें समय भगवान का स्मरण करते रहे और पूजा करते रहें।
  • पूजन-पाठ के बाद महिलाएं रात भर भजन-कीर्तन करती है।
  • पूजा करते हुए बिल्व-पत्र, आम के पत्ते, चंपक के पत्ते एवं केवड़ा अर्पण करने चाहिए और आरती करनी चाहिए। साथ में इन मंत्रों को बोलना चाहिए।
ये भी पढ़ें :-  पाकिस्तान की घटिया हरकत, म्यूजियम में लगाया अभिनंदन का पुतला

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.