fbpx

अगर बदलता है नाखूनों का रंग तो हो सकती है ये गंभीर बीमारियाँ

हमारे नाखून पर बने सफ़ेद निशान देख कर लोग कहते थे की हमें कैल्शियम की कमी फिर भी हम उस बात को नजर अंदाज़ कर देते थे| जब हमारे नाखूनों का रंग बदलने लगता है तो हम इसको इगनोर कर देते है|

जब नाखून लाल और चमकदार होते है हमारा स्वास्थ्य ठीक होता हैं। लेकिन हमारे नाखूनों का रंग बदलने लगता है तब यह इशारा होता है कि हमारा स्वास्थ्य ठीक नहीं है। आज हम आपको बताएंगे कि नाखूनों का रंग और आकार बदलने से हमारे शरीर में कौन-कौन सी दिक्कतें आ सकती है।

दरअसल कई बार हमारे नाखूनों का रंग पीला हो जाता है। नाखून का रंग पीले होने का मतलब है कि आपके शरीर में खून की कमी है। नाखूनों का रंग पीला होने की वजह से लीवर में खराबी आ सकती है और कुपोषण भी हो सकता है। थॉयराइड और डायबिटीज भी बढ़ने के कारण भी आपके नाखून पीले रंग के होने लगते हैं। अगर आपके नाखूनों का रंग दिन प्रतिदिन गाढ़ा होने लगता है तो ऐसी स्थिति में आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

ये भी पढ़ें :-  " प्रस्थानम " जल्द रिलीज होने के लिए है तैयार, होगी मनोरंजन से भरपूर!

हालांकि नाखूनों में नीलापन होने का मतलब है कि आपके शरीर में ऑक्सीजन की कमी है। जब आपके शरीर को प्राप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिलती है तो आपके नाखून नीले पड़ने लगते हैं। नाखून नीले पड़ने से आपको फेफड़े और दिल की बिमारी से जूझना पड़ सकता है। 

वहीं कई बार हमारे नाखून सफेद रंग के होने लगते हैं। अगर आपके नाखूनों का रंग भी सफेद हो रहा है तो सावधान हो जाएं। नाखून का रंग सफेद होने की वजह से आपको लीवर से जुड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। कई बार हमारे नाखूनों में सूजन आने लगती हैं। इस सूजन की वजह से आपको लीवर से जुड़ी समस्या हो सकती है।

अक्सर हमारे नाखून साइड से काले पड़ रहे हैं। कई बार हमारे नाखूनों की परत निकलने लगती है। जिसके कारण हमें थॉयराइड और फंगल इंफेक्शन हो सकता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.