fbpx

भगवान शिव की पूजा में भूलकर भी न करें ये चीज़ें शामिल, होगा अनर्थ

हिन्दू धर्म में हर एक दिन का अपना ही अलग मतलब होता है। इसी में भगवान शिव का दिन होता है सोमवार का दिन। सोमवार का दिन भगवान शिव के लिए सबसे पावन दिन माना गया है। शिव मंदिरों में सोमवार को भक्तों का मेला और भी ज्यादा हो जाता है।

सारे देवों में शिव ही ऐसे देव हैं जो अपने भक्तों की भक्ति-पूजा से बहुत जल्दी ही प्रसन्न हो जाते हैं। बता दें शिव को आदि और अनंत माना गया है जो पृथ्वी से लेकर आकाश और जल से लेकर अग्नि हर तत्व में विराजमान हैं।

कहा जाता है कि शिव की पूजा बहुत ध्यानपूर्वक करनी चाहिए। शिव पूजा में बहुत सी ऐसी चीजें अर्पित की जाती हैं जो अन्य किसी देवता को नहीं चढ़ाई जाती। इसी तरह शिव पूजा में कई ऐसी चीजें भी होती हैं जो उन्हें नहीं चढ़ानी चाहिए। तो आइए जानते हैं क्या हैं वो चीज़े:-

  • शिव जी की पूजा में हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए। हल्दी खानपान का स्वाद बढ़ाती है साथ ही बहुत से धार्मिक कार्यों में भी हल्दी का महत्वपूर्ण स्थान माना गया है। लेकिन भोलेनाथ की पूजा में हल्दी नहीं चढ़ाई जाती है। ऐसा कहा जाता है कि हल्दी का उपयोग मुख्य रूप से सौंदर्य प्रसाधन में किया जाता है और शास्त्रों के अनुसार शिवलिंग पुरुषत्व का प्रतीक है, इसी वजह से महादेव को हल्दी नहीं चढ़ाई जाती।
  • शंख भगवान विष्णु को बहुत ही प्रिय हैं लेकिन शिव जी ने शंखचूर नामक असुर का वध किया था इसलिए भगवान शिव की पूजा में शंख वर्जित माना गया है।
  • शास्त्रों के अनुसार ऐसा भी है कि शिव जी को कुमकुम और रोली नहीं लगाई जाती है।
  • शंकर नाथ को तुलसी का पत्ता भी नहीं चढ़ाना चाहिए।
  • शिव को कनेर और कमल के अलावा लाल रंग के फूल प्रिय नहीं हैं। शिव को केतकी और केवड़े के फूल चढ़ाने का निषेध किया गया है।
ये भी पढ़ें :-  Indian Railways: यात्रियों को मिली बड़ी राहत, कोहरे के दौरान लेट हुई ट्रेन तो पहले ही मिलेगी सूचना

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.