fbpx

ये है फेसबुक का नया फीचर, यूजर्स के प्राइवेसी पर पड़ेगा सीधा असर

फेसबुक (Facebook) ने काफी समय पहले बायोमेट्रिक ऑथेन्टिकेशन फीचर (Facebook Biometric Authentication Feature) की शुरुआत की थी। दरअसल ये फीचर Facebook की ओर से इसलिए लाया गया था ताकि लोगों की तस्वीरों का गलत इस्तेमाल न हो।

शुरुआत में कंपनी ने इसे डिफॉल्ट ऑन रखा और इसकी वजह से प्राइवेसी को लेकर बवाल मच गया। बाद में कंपनी ने हमेशा की तरह यूजर वेलफेयर का हवाला देते हुए इसे ऑप्शनल बना दिया। हालांकि ये फीचर अब तक फ्लॉप रहा है। ये बात अलग है कि फेसबुक ने अब तक इस फीचर से न जाने कितने यूजर्स का फेस डेटा इकठ्ठा कर लिया होगा।

फेसबुक फेशियल रिकॉग्निशन को लेकर एक नई रिपोर्ट है। फेसबुक फेशियल रिकॉग्निशन बेस्ड आइडेंटिटी वेरिफिकेशन की तैयारी कर रहा है। Jane Manchun Wong नाम की एक टिप्स्टर हैं जो ट्विटर पर खुद को रिवर्स इंजीनियरिंग का स्पेशलिस्ट बताती हैं। उन्होंने कुछ ट्वीट किए हैं और इसके साथ स्क्रीनशॉट्स भी शेयर किए हैं।

ये भी पढ़ें :-  Oppo Reno 3 सीरीज़ से जल्द उठेगा पर्दा

Facebook एक फेशियल रिकॉग्निशन बेस्ड आइडेंटिटी वेरिफिकेशन फीचर लाने वाला है। इस नए फीचर में यूजर्स को अलग-अलग एंगल से सेल्फी लेनी होगी और इसे रजिस्टर करना होगा। इस फीचर के आने के बाद शायद आपको ई-मेल और पासवर्ड लिखने की जरूरत न हो। ये फीचर उसी तरह काम करेगा जैसे स्मार्टफोन में फेस अनलॉक काम करता है।

यह फीचर सुनने में थोड़ा अजीब लगता है, क्योंकि फेसबुक हार्डवेयर डिजाइन नहीं करता है। अगर ऐसा हुआ तो इस पर एक बार फिर से प्राइवेसी को लेकर मार्क ज़ुकरबर्ग सवालों के घेरे में होंगे। क्योंकि फेसबुक के करोड़ों अरबों यूजर्स का फेस डेटा सीधे तौर पर फेसबुक के पास होगा और इससे प्राइवेसी को लेकर जाहिर है समस्या खड़ी होगी।

ट्वीट में जो स्क्रीनशॉट शेयर किया गया है उसमें फेशियल ऑथेन्टिकेशन रजिस्टर करने के स्टेप्स दिए गए हैं।

* सबसे पहले एक वीडियो सेल्फी रिकॉर्ड करनी है।

* आई लेवल पर फोन रख कर एनरॉल (Enroll) करना है। रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक ने यह कहा है कि ये वीडियो सेल्फी कोई दूसरा देख नहीं सकता है और कन्फर्मेशन के 30 दिन बाद इसे डिलीट कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें :-  Realme X2 Pro जल्द होगा लॉन्च

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.