fbpx

मोदी सरकार ने वापस ली गाँधी परिवार की SPG सुरक्षा

देश का कोई भी बड़ा नेता हो उसे अनजाने खतरे की वजह से सरकार की तरफ से  सुरक्षा दी जाती है। वही अब मोदी सरकार गांधी परिवार की सुरक्षा कम करने की तैयारी कर रही है।

मोदी सरकार गांधी परिवार से SPG सुरक्षा घेरा हटाया जाने वाला है। अब नई व्यवस्था में एसपीजी की जगह Z+ सुरक्षा दी जाएगी। कांग्रेस ने मोदी सरकार के इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे एक साजिश करार दिया है। कांग्रेस का कहना है कि इस फैसले के पीछे आरएसएस की मंशा काम कर रही है।

जानकारी के मुताबिक अब गांधी परिवार की सुरक्षा में Z+ श्रेणी की होगी और CRPF के कमांडो सुरक्षा ड्यूटी में तैनात होंगे। यह महत्वपूर्ण फैसला गृह मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया है। इसका मतलब है कि अब एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ पीएम मोदी के पास ही रहेगी। क्योंकि इससे पहले एसपीजी की सुरक्षा सिर्फ चार लोगों के पास थी जिसमें पीएम मोदी के साथ-साथ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का नाम भी शामिल था।

ये भी पढ़ें :-  JNU स्टूडेंट करेंगे संसद मार्च, रोकने के लिए 1200 पुलिसकर्मी तैनात

यह निर्णय सभी सुरक्षा एजेंसियों से मिले इनपुट्स के आधार पर लिया गया है । सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ समय में गांधी फैमिली पर किसी तरह के हमले की कोई धमकी या उसकी आशंका नहीं थी इसी वजह से सरकार की तरफ से सुरक्षा कम करने का फैसला लिया गया।

आपको बता दें एसपीजी सुरक्षा काफी आधुनिक होती है। एसपीजी सुरक्षा नये उपकरणों, वाहनों से लैस है। एसपीजी की टीम में स्नाइपर्स, बम निरोधक विशेषज्ञ भी होते हैं। ये जवान वीवीआईपी की सुरक्षा में उनके साये की तरह उनके साथ रहते हैं। एसपीजी कमांडो के पास अत्याधुनिक रायफल्स, अंधेरे में देख पाने वाले चश्मे, संचार के कई अत्याधुनिक उपकरण, बुलेटप्रूफ जैकेट, ग्लब्स, कोहनी और घुटनों पर लगाने वाले गार्ड भी होते हैं। एसपीजी के पास अत्याधुनिक वाहनों का दस्ता होता है। एसपीजी के पास BMW 7 सीरीज की बख्तरबंद गाड़ियां, रेंज रोवर्स, BMW के एसयूवी, ट्योटा और टाटा के भी बख्तरबंद गाड़िया होती हैं।

ये भी पढ़ें :-  मार्शलों के यूनिफार्म का बदला गया रंग, कई राजनेताओं ने जताई आपत्ति

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.