fbpx

Prakash Parv 2019: गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर ग्रांड सेलेब्रेशन शुरू

सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के पहले धर्मगुरु गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती के मौके पर देशभर में सेलेब्रेशन शुरू हो गया है। गुरुद्वारों को सजाया गया है और यहां लगातार कीर्तन चल रहे हैं। गुरु नानक देव जी की

जयंती को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है जो कि इस साल 12 नवंबर को है। गुरु नानक का जन्म  कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा 1526 ई में हुआ था। यही कारण है हर साल कार्तिक मास की पूर्णिमा को प्रकाश  पर्ब के रूप में मनाया जाता है।

गुरु नानक देव जी सिर्फ एक संत नहीं बल्कि, दार्शनिक, समाज सुधारक, चिंतक, कवि और देश से प्यार करने वाले थे। कहा जाता है कि बचपन से ही नानक साहिब का मन संसारिक कामों में नहीं लगता था।  आठ साल की आयु में ही उनका स्कूल भी छूट गया था। एक बालक के रूप में भगवान की ओर ज्यादा लगाव होने से  लोग इन्हें दिव्य पुरुष के रूप में मानने लगे थे।

ये भी पढ़ें :-  उन्नाव रेप - सीएम योगी ने कहा आरोपियों को जल्द से जल्द दिलावाएंगे सजा।

12 नवंबर को प्रकाश पर्व को निकलेगी नगर फेरी-

गुरु नानक देव जी के जन्मोत्सव  प्रकाश पर्व को मनाने वाले श्रद्धालु इस मौके पर गुरुद्वारों समेत जगह -जगह लंगर आयोजित करते हैं। नगर कीर्तन निकालते हैं। ढोल नगाड़ों के साथ कलाकार गतका परफॉर्म करते हैं और कहीं-कहीं तरवार बाजी की कला भी देखने को मिलती है।

जोरों पर तैयारियां –

मुंबई और दिल्ली समेत देश के प्रमुख शहरों के गुरुद्वारों में 550वें प्रकाशपर्व की तैयारियों जोरों पर हैं। 12 नवंबर के दिन सभी गुरुद्वारों से नगर कीर्तन का आयोजन किया जाएगा। गुरुद्वारों में दर्जनों ग्रंथियों द्वारा गुरु ग्रंथ साहिब का जाप किया जाएगा। कीर्तन और लंगर के साथ ही पूरे धूम धाम से प्रकाश पर्व मनाने की तैयारियां की गई हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.