fbpx

मोदी सरकार की वजह से 10 साल पुरानी गाड़ी में सफर करेगा गाँधी परिवार

हाल ही में केंद्र की मोदी सरकार ने गांधी परिवार से स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानि (एसपीजी) कवर को हटा दिया और उन्हें जेड-प्ल्स सिक्योरिटी दे दी।

सुरक्षा व्‍यवस्‍था में हाल ही में हुए बदलाव के बाद गांधी परिवार (Gandhi Family) को 10 साल पुरानी टाटा सफारी और पुलिस सुरक्षा दी गई है। मंगलवार को संसद में कांग्रेस (Congress) ने इस मामले को उठाया और पीएम मोदी से सुरक्षा व्‍यवस्‍था में किए गए बदलाव पर जवाब मांगा।

आपको बता दे जेड-प्ल्स सिक्योरिटी (Z-Plus Security) के तहत 100 सुरक्षाकर्मी सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालते हैं। 1991 में श्रीलंकाई आतंकवादी समूह ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही गांधी परिवार को कड़ी सुरक्षा दी जा रही थी। लेकिन वर्तमान सरकार के सूत्रों की धारणा के मुताबिक गांधी परिवार को अब कम खतरा है और इस वजह से उनकी सुरक्षा को पहले से कम कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें :-  Delhi Election 2020: चुनाव आयोग ने BJP उम्मीदवार कपिल मिश्रा के खिलाफ दर्ज कराई FIR

अब जेड-प्ल्स सिक्योरिटी में दिल्ली पुलिस को सोनिया गांधी और राहुल गांधी के घरों का नियंत्रण सौंपा गया है। साथ ही अब गांधी परिवार को स्पेशल बुलेट प्रूफ गाड़ियों की बजाए 9 साल पुरानी यानी 2010 की टाटा सफारी दी गई है। इससे पहले एसपीजी प्रोटेक्शन के दौरान गांधी परिवार की सुरक्षा का जिम्मा वो कमांडो संभालते थे जो सबसे मजबूत और स्मार्ट होते हैं और उन्हें इसके लिए स्पेशल ट्रेनिंग भी दी जाती है। साथ ही सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी रेंज रोवर गाड़ि‍यों का उपयोग करती थीं जो किसी किस्‍म के धमाकों से बचने में भी सक्षम होती थीं जबकि राहुल गांधी फॉर्च्यूनर कार का उपयोग करते थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.