fbpx

राजीव धवन अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्ष के वकील रह सकते हैं

नीरज कुमार

ताजा ख़बर सामने आई है कि अयोध्या मामले में वरिष्ठ वकील राजीव धवन राम जन्मभूमि मामले में मुस्लिम पक्ष के वकील रह सकते हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड राजीव धवन को मनाने की कोशिश कर रहा है।

बताया ये भी जा रहा है कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि राजीव धवन को केवल जमीयत उलेमा ए हिन्द के वकील के तौर पर हटाया गया है। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड चाहता है कि इस मामले में जो दूसरे मुस्लिम पक्ष है उनकी तरफ से राजीव धवन केस लड़े।

बता दें कि आज यानी कि मंगलवार को ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ के सदस्य और वरिष्ठ वकील जफरयाब जिलानी सहित अन्य राजीव धवन से मिलने जाएंगे।

हांलाकि, अयोध्या मामले में एक नई ख़बर ये भी थी कि सुन्नी वक्फ बोर्ड और मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को केस से हटाया गया और अब वे अयोध्या मामले में दर्ज समीक्षा याचिकाओं में दखल नहीं दे पाएंगे।

ये भी पढ़ें :-  डॉक्टर प्रियंका के चारों दोषियों को पुलिस ने एनकाउंटर में किया ढेर

इस दौरान मंगलवार को यानी कि आज फेसबुक पर धवन ने लिखा, “मुझे केस में एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड एजाज मकबूल ने बाबरी केस से हटाया है। एजाज पहले जमियत का प्रतिनिधित्व कर रहे थे। मुझे बताया गया कि जमियत-ए-हिंद के मदनीजी ने इशारा किया था कि मेरी तबियत ठीक नहीं है। यह पूरी तरह बकवास है।”

धवन ने आगे कहा, “उनके पास अधिकार है कि वे अपने वकील एजाज मकबूल को मुझे हटाने का आदेश दें, लेकिन मुझे निकालने की जो वजह दी गई वो झूठी और दुर्भावनापूर्ण है। मैंने खुद को हटाए जाने की मंजूरी का औपचारिक पत्र बिना किसी संकोच के भेज दिया है।”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.