fbpx

रेप के आरोपी नित्यानंद ने कहा मैं परम शिव हूं,मुझे कोई छू नहीं सकता

रेप के आरोप में पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए देश छोड़कर भागे नित्यानंद का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वह दावा कर रहे हैं कि उन्हें अब कोई नहीं छू सकता और कोई भी अदालत उन्हें सज़ा नहीं दे सकती। इसके साथ ही उसने यह भी कहा है कि वो दुनिया को सच बताएंगे। बता दें कि नित्यानंद इन दिनों देश से फरार है। ये वीडियो 22 नवंबर का है। नित्यानंद ने ये वीडियो कहां बनाया है इसके बारे में उन्होंने कुछ भी नहीं बताया है।

वीडियो में नित्यानंद ने कहा, ‘अगर तुम मुझे अपनी निष्ठा दिखाते हो तो मैं तुम्हें वास्तविकता और सच्चाई का खुलासा करके अपनी निष्ठा दिखाऊंगा। अब मुझे कोई भी छू नहीं सकता। मैं परम शिव हूं। सच बताने के लिए कोई अदालत मुझ पर मुकदमा नहीं कर सकती। मैं परम शिव हूं।’

आपको बता दें कि विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि नित्यानंद का पासपोर्ट रद्द कर दिया गया था। साथ ही नए पासपोर्ट की उसकी याचिका भी खारिज कर दी गई थी। मंत्रालय ने विदेशों में स्थित सभी मिशनों और पोस्टों को नित्यानंद के बारे में सतर्क कर दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने नित्यानंद के दावे वाले ‘हिंदू राष्ट्र कैलासा’ पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

ये भी पढ़ें :-  Republic Day 2020: क्या आप जानते हैं कि गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के बीच क्या है अंतर?

इससे पहले ऐसी कहा गया था कि स्वयंभू बाबा ने इक्वाडोर की मदद से दक्षिण अमेरिका में एक द्वीप खरीदा है। हालांकि इक्वाडोर दूतावास ने एक बयान में इस बात से साफ-साफ इनकार किया है कि उसने नित्यानंद को शरण दी या उसकी सरकार ने इक्वाडोर के आसपास या किसी दूर दराज के क्षेत्र में दक्षिण अमेरिका में कोई जमीन या द्वीप खरीदने में मदद की।

बयान में कहा गया है कि इक्वाडोर ने नित्यानंद द्वारा शरण मांगने के लिए किए गए अनुरोध को खारिज कर दिया और बाद में वह संभवत: हैती की ओर जाने के लिए इक्वाडोर से रवाना हो गया। इसमें कहा गया है, ‘सभी सूचनाएं, चाहे वे भारत में डिजिटल और प्रिंट मीडिया में प्रकाशित हुई है

इसमें कहा गया है, ‘इस तरह सभी डिजिटल या प्रिंट मीडिया हाउसों को नित्यानंद से जुड़ी सभी खबरों में इक्वाडोर का जिक्र करने से बचना चाहिए।’

2 total views, 2 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.