Notice: Trying to get property of non-object in /var/www/html/www.khabarinfo.com/public_html/wp-content/plugins/wordpress-seo/frontend/schema/class-schema-person.php on line 152

Notice: Trying to get property of non-object in /var/www/html/www.khabarinfo.com/public_html/wp-content/plugins/wordpress-seo/frontend/schema/class-schema-person.php on line 230

Notice: Trying to get property of non-object in /var/www/html/www.khabarinfo.com/public_html/wp-content/plugins/wordpress-seo/frontend/schema/class-schema-person.php on line 236

दाऊद का करीबी और मोस्ट वांटेड गैंगस्टर एजाज लकड़वाला गिरफ्तार

मुंबई के मोस्ट वांटेड गैंगेस्टर एजाज लकड़वाला को पटना से गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे मुंबई लाया गया। उसके ऊपर 25 मुकदमे दर्ज हैं। वह अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का करीबी है।

इससे पहले मुंबई क्राइम ब्रांच की एंटी एक्सटॉर्शन सेल (AEC) ने एजाज लकड़वाला की बेटी सोनिया लकड़वाला को जबरन वसूली के दूसरे मामले में गिरफ्तार किया गया था। वह अपने पिता के कहने पर बांद्रा के एक बिल्डर से रंगदारी वसूलने के लिए धमकी दे रही थी।

महाराष्ट्र का मोस्ट वॉन्टेड है एजाज

एजाज लकड़वाला महाराष्ट्र पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी है। कभी किसी दौर में वह छोटा राजन गैंग का मेंबर था। उसके खिलाफ मुंबई और राजधानी दिल्ली में दो दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं। जिनमें रंगदारी, वसूली, हत्या और फिरौती वसूलने के मामले शामिल हैं।

अस्पताल से भाग निकला था एजाज

एजाज कभी मुंबई के जोगेश्वरी इलाके में रहता था। उसने बांद्रा के सेंट स्टेनीस्लूस स्कूल से पढ़ाई की। खुफिया सूत्रों के अनुसार, वर्तमान में एजाज कनाडा में रहता है। साल 2003 में एक हमले के बाद वह अस्पताल से फरार हो गया था। इसके बाद उसके साउथ अफ्रीका भाग जाने की ख़बरें आई थी।

कनाडा में होने की थी आशंका

लेकिन बाद में साल 2004 के दौरान एजाज को कनाडा पुलिस ने ओटावा से गिरफ्तार किया था। लेकिन कुछ दिनों उसे जेल में रखने के बाद रिहा कर दिया गया था। रिहा होने के बाद वह कई साल तक अंडरग्राउंड रहा। मगर साल 2008 में फिरौती के एक मामले में उसका हाथ होने की ख़बर एजेंसियों को मिली थी। तब से उसका कुछ पता नहीं था। लेकिन अब वो पुलिस के हत्थे चढ़ गया है।

130 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.