fbpx

ईरान बोइंग प्लेन क्रैश : हमले में 176 लोगों की ले जान, अब ईरान बोला- गलती हो गई!

ईरान की ओर से इराक में अमेरिकी ठिकानों पर मिसाइल अटैक के कुछ घंटे बाद बुधवार को एक बोइंग प्लेन ईरान में क्रैश कर गया था। अब ईरान ने क्रैश को लेकर अपनी गलती स्वीकार कर ली है। विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी। ईरान का कहना है कि मानवीय भूल की वजह से उसने अपने ही विमान को मार गिराया। इससे पहले ईरान ने कहा था कि विमान में खराबी की वजह से हादसा हुआ।

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को ट्वीट करके कहा- ‘सुरक्षा बलों की आंतरिक जांच से ये पता चला है कि मानवीय भूल की वजह से मिसाइल फायर की गई जिससे यूक्रेन का विमान क्रैश हुआ और 176 निर्दोष लोगों की मौत हो गई। जांचकर्ता इस मामले में आगे की कार्रवाई कर रहे हैं।’

ईरानी राष्ट्रपति ने ये भी कहा कि अक्षम्य गलती के लिए जिम्मेवार लोगों पर मुकदमा चलाया जाएगा। ईरान भयंकर गलती को लेकर खेद प्रकट करता है। वे शोक मना रहे परिवार के लिए वे दुआ करते हैं।

ये भी पढ़ें :-  सूरत: 10 मंजिला टेक्सटाइल मार्केट में आग, 50 से ज्यादा दमकल की गाड़ियां मौजूद

इस विमान ने तेहरान से कीव के लिए उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद ही विमान गिरा दिया गया था। ईरान की मिलिट्री ने स्टेट टीवी को एक बयान जारी कर बताया है कि मानवीय भूल की वजह से उसने एयरक्राफ्ट को निशाना बनाया।

विमान पर हमले में 176 लोगों की गई जान, ईरान बोला- गलती हो गई!

मिलिट्री का कहना है कि विमान ईरान की सेंसिटिव मिलिट्री साइट के पास उड़ रहा था। बयान में ये भी कहा गया है कि मिलिट्री का ज्यूडिशियल डिपार्टमेंट मामले की जांच करेगा और घटना की जवाबदेही तय की जाएगी। ईरानी मिलिट्री ने मृतक के परिवार वालों के लिए शोक जताया है।

विमान पर हमले में 176 लोगों की गई जान, ईरान बोला- गलती हो गई!

रिपोर्ट के मुताबिक, एविएशन सेफ्टी एनालिस्ट टोड कर्टिस ने कहा था- ‘प्लेन बुरी तरह टुकड़ों में बंट गया था। इसका मतलब है कि या तो हवा में या जमीन पर विमान की भयंकर टक्कर हुई।’

ये भी पढ़ें :-  पीएम नरेंद्र मोदी ने उनके चेहरे पर तेज के लिए बतायी दिलचस्प कहानी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.