fbpx

मोदी सरकार में महंगाई दर ने तोड़े रिकॉर्ड, खाद्य पदार्थों की कीमतें आसमान पर

खाद्य पदार्थों यानी खाने-पीने की चीजों और सब्जियों की आसमान छूती कीमतों की वजह से खुदरा मुद्रास्फीति दर या खुदरा महंगाई दर (Retail Price Inflation) दिसंबर 2019, साढ़े पांच साल के उच्चतम स्तर 7.35 प्रतिशत पर पहुंच गई। खाद्य पदार्थों की खुदरा महंगाई दर भी छह साल से ज्यादा के उच्चतम स्तर 14.12% पर रही है।

मोदी सरकार के कार्यकाल में यह पहला मौका है, जब खाने-पीने की चीजों के दाम इस कदर बढ़े हैं। सब्जियों की कीमतें दिसंबर 2019 में पिछले साल दिसंबर 2018 से औसतन 60.5 प्रतिशत ऊपर रही हैं।

खुदरा महंगाई दर लगातार पांचवें महीने बढ़ी है। पिछले साल(2019) दिसंबर का इसका स्तर जुलाई 2014 के बाद सर्वाधिक है। खाद्य खुदरा महंगाई की दर लगातार 10 वें महीने बढ़ी है और लगातार दूसरे महीने यह दर दहाई(double digit) अंक में रही है।

नवंबर 2019 में खाद्य खुदरा महँगाई दर 10.01% रही थी। फरवरी 2019 में यह निगेटिव थी। यह एक साल पहले दिसंबर 2018 में यह दर 2.65% निगेटिव रही थी।

ये भी पढ़ें :-  नागरिकता विवाद के बीच ‘घबराया’ है केरल, NPR प्रक्रिया में नहीं देंगे साथ, पर जनगणना के लिए तैयार

सब्जियों और दालों के अलावा मांस-मछली की महंगाई दर पिछले महीने दिसंबर में 9.57 प्रतिशत रही। अंडे के दाम एक साल पहले की तुलना में 8.97% बढ़े हैं। मसालों के दामों में भी 5.76 प्रतिशत की तेजी दर्ज़ की गयी है।

अनाज और उनके उत्पाद, दूध एवं डेयरी उत्पाद और फलों की महंगाई दर भी 4% से अधिक रही। आवासों की महंगाई दर 4.30% रही। ईंधन और बिजली के दामों में साल-दर-साल आधार पर ज्यादा वृद्धि नहीं हुई और इस वर्ग की महँगाई दर 0.70 प्रतिशत रही।

अन्य की श्रेणी में एक साल पहले के मुकाबले दिसंबर 2019 में सौंदर्य उत्पाद और सेवाएं 6.28 प्रतिशत, परिवहन सेवाएं 4.77 प्रतिशत, मनोरंजन के साधन 4.02 प्रतिशत, स्वास्थ्य सेवाएं 3.80 प्रतिशत और शिक्षा के साधन 3.73 प्रतिशत महँगे हुए।

ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में दिसंबर 2019 में लोग महंगाई से एक समान परेशान रहे। खुदरा महंगाई की दर ग्रामीण इलाकों में 7.26% और शहरी इलाकों में 7.46% रही। खाद्य खुदरा महंगाई दर ग्रामीण इलाकों में 12.97% और शहरी इलाकों में 16.12% रही।

ये भी पढ़ें :-  'Owaisi के बाप-दादाओं ने अपनी लैला के लिए Taj Mahal बनवाया'

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.