fbpx

खुदरा के बाद अब थोक महंगाई दर ने भी लगायी छलांग

महंगाई के मोर्चे पर सरकार की मुसीबतें लगातार बढ़ रही हैं। रिटेल महंगाई के बाद अब थोक महंगाई दर के आंकड़ों में भी बढ़ोतरी दर्ज़ हुई है। दिसंबर में थोक महंगाई दर 2.59 फीसदी पर पहुंच गई, जबकि नवंबर में ये 0.58 फीसदी थी।

महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में खाने-पीने की चीजों की थोक महंगाई दर 9.02 फीसदी से बढ़कर 11.05 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में प्राइमरी ऑर्टिकल्स की थोक महंगाई दर 7.68 फीसदी से बढ़कर 11.46 फीसदी रही है।

महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में मैन्यूफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की थोक महंगाई दर पिछले महीने के -0.84 फीसदी से बढ़कर -0.25 रही है। महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में Fuel & Power की थोक महंगाई दर -7.32 फीसदी से बढ़कर -1.46 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में Non-food Articles की थोक महंगाई दर 1.93 फीसदी से बढ़कर 7.72 फीसदी रही है।

ये भी पढ़ें :-  मछली ने गर्दन पर किया हमला , जबड़े के आरपार; किशोर 90 मिनट तक मछली को पकड़े पहुंचा अस्पताल

महीने दर महीने आधार पर दिसंबर में सब्जियों की थोक महंगाई दर 45.32 फीसदी से बढ़कर 69.69 फीसदी रही है।

ऐसे वक़्त में जब अर्थव्यवस्था पहले ही मंदी के दौर से गुज़र रही है उस पर inflation का बढ़ना कोई कम बड़ी मुसीबत नहीं है। खास बात यह है कि RBI अर्थव्यवस्था में रफ़्तार देने के लिए लगातार ब्याज दरों में कटौती कर रहा था। मगर अब inflation के ये आंकड़े RBI के लिए नयी परेशानी का सबब बन गए हैं। क्योंकि इतनी रफ़्तार से बढ़ते inflation पर ब्याज दरों में कटौती करना शायद मुमकिन न हो पाए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.