थैले में कटा हाथ लेकर अस्पताल पहुंचा युवक, जोड़ने में लगे 10 घंटे

जहां देश भर के डॉक्टर कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाने में जुटे हैं, वहीं  दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों ने एक ऐसे युवक की जान बचाई है, जिसका सड़क हादसे में पूरा हाथ कटकर अलग हो गया था। 10 घंटे की कड़ी मसकत के बाद डॉक्टरों ने कटे हाथ को फिर से जोड़ दिया।

हम आपको बता दें कि 24 मार्च को को घर लौटते वक्त हुई दुर्घटना में विकास का हाथ कटकर अलग हो गया था। जिसके बाद उसे इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल लाया गया था। यहां कोरोना वायरस से लड़ने में जुटी डॉक्टरों की टीम ने विकास की सर्जरी करने का फैसला लिया।  सर्जरी टीम में बर्न और प्लास्टिक सर्जरी विभाग के हेड ऑफ डिपार्टमेंट डॉ. शलभ कुमार के अलावा डॉ. कनिका, डॉ. आदित्य, डॉ श्रुष्टि सेठ, डॉ अर्चना, डॉ हरि प्रसाद, डॉ अंकित जैन आदि शामिल थे।

विकास के घरवालों का कहना है कि 24 मार्च को विकास गाजियाबाद से अपने घर मंडावली की तरफ लौट रहा था। मोहन नगर के पास एक पुल के पास उसकी बाइक टकरा गई और वह जख्मी हो गया। उसके पीछे से आ रहे उसके बैंक के अधिकारी ने विकास को सड़क पर पड़ा देख वह उसे व उसके कटे हुए हाथ को थैली में डालकर नजदीक के अस्पताल में ले गए।

199 total views, 1 views today

ये भी पढ़ें :-  पैसे नहीं PPE किट की मदद चाहिए: गंभीर से केजरीवाल

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.