सूरत में प्रवासी मजदूरों ने किया पथराव, कहा- खाना नहीं मिल रहा है, हमें घर वापस भेजा जाए

खाजोड़ में तैयार की जा रही एशिया की सबसे बड़ी डायमंड बोर्स में काम कर रहे मजदूरों ने मंगलवार को जमकर हंगामा किया। देशबंदी के बाद भी काम लिए जाने से मजदूरों में गुस्सा है। मजदूरों ने बोर्स के कार्यालय पर पथराव और तोड़फोड़ कर दी। मजदूरों ने आरोप लगाया कि उन्हें खाना नहीं मिल पा रहा है। मजदूरों ने कहा कि उन्हें घर भेज दिया जाए। यहां पर लगभग 4 हजार मजदूर काम कर रहे हैं। मजदूरों को पुलिस ने समझाबुझाकर शांत किया। इसके बाद मजदूर धरने पर बैठ गए।

इससे पहले भी हो चुका है हंगामा
इसके पहले भी प्रवासी मजदूर 10 अप्रैल को हंगामा कर चुके हैं। मजदूरों का आरोप था कि उन्हें पर्याप्त खाना नहीं मिल रहा है। कोरोना संकट के दौरान वे यहां असुरक्षित हैं। तब किसी तरह पुलिस ने मजदूरों को समझाकर शांत किया था।

पुलिस ने मजदूरों को घर भेजने के लिए प्रशासन से मांगी सहायता
डायमंड बोर्स में मजदूरों का हंगामा देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मजदूरों को वापस घर भेजने के लिए पुलिस ने प्रशासन से सहयोग मांगा है। इनमें से अधिकतर मजदूर यूपी-बिहार से हैं। राज्य सरकार की सहायता से ही इन मजदूरों को वापस घर भेजा जा सकता है।

10,912 total views, 4 views today

ये भी पढ़ें :-  भारतीय मूल की कमला हैरिस बनी उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार, डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से लड़ेगी चुनाव

Leave a Reply

Your email address will not be published.