मरकज में शामिल विदेशी लोगों पर कार्रवाही, लगभग 700 जमातियों के पासपोर्ट जब्त

कोरोना वायरस देशबंदी के बीच तबलीगी जमात के विदेशी सदस्यों को पुलिस ने बड़ा झटका दिया है। कोरोना का क्वॉरंटाइन पूरा कर चुके इन लोगों के पासपोर्ट और बाकी ट्रेवल डॉक्यूमेंट जब्त कर लिए गए हैं। ये वही लोग हैं जो देशबंदी के बीच निजामुद्दीन मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस इनसे पूछताछ करेगी।

लगभग 700 जमातियों का पासपोर्ट जब्त
तबलीगी जमात से जुड़े हजारों लोगों ने हाल ही में अपना कोरोना क्वारंटाइन पूरा किया था। दिल्ली सरकार ने बीते सप्ताह जिलाधिकारियों को यह निर्देश दिया था कि वे तबलीगी जमात के 2,446 सदस्यों को पृथक-वास केन्द्रों से छोड़ दें यानी सबको घर जाने की इजाजत मिल गई थी। इसमें भारत के अलग-अलग राज्यों के जमातियों को घर जाने की छूट थी।

लेकिन निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए विदेशी जमातियों को पुलिस के हवाले किया गया था। तब इनकी संख्या 567 बताई गई थी। सरकार के एक अधिकारी ने कहा था, ‘उन्हें वीजा उल्लंघन जैसे विभिन्न उल्लंघनों के संबंध में पुलिस के हवाले किया जा रहा है।’

ये भी पढ़ें :-  लखनऊ के कौन आवास में हो सकती हैं शिफ्ट प्रियंका गांधी

फिलहाल इन विदेशी जमातियों के पासपोर्ट और ट्रेवल डॉक्यूमेंट जब्त किए गए हैं। फिलहाल ये देश नहीं छोड़ सकते। इनके बयान लिए जाएंगे कि क्या इन्हें मरकज में किसी साजिश के तहत रोका गया था।

मौलाना साद से जुड़ी याचिका पर भी हुई सुनवाई
दिल्ली हाई कोर्ट में आज तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद से जुड़ी याचिका पर भी सुनवाई हुई थी। इस केस को नैशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी को सौंपने की गुजारिश की गई थी। लेकिन दिल्ली पुलिस ने इसका विरोध किया और कहा जांच ठीक चल रही है।

195 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.