योगी सरकार में गरीबों का मज़ाक, वितरीत हो रहा घटिया गुणवत्ता वाला राशन

कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए जारी देशबंदी के दौरान यूपी के सुलतानपुर जिले में जरूरतमंदों को सरकार की ओर से दिए जाने वाले राशन किट की घटिया गुणवत्ता को लेकर सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने इसे लेकर योगी सरकार पर हमला बोला है और उसे संवेदनहीन बताया है। वहीं प्रशासन इसे मामूली चूक बताकर पल्ला झाड़ने में लगा है।

मंगलवार को नगर पालिका क्षेत्र में बांटी जाने वाली राशन किट को लेकर तब बवाल मच गया जब इस किट में पैक किया गया आलू सड़ा निकला। साथ ही दाल और नमक की गुणवत्ता भी घटिया पाई गई। सरकारी राशन की खराब गुणवत्ता को प्रमुखता से उठाया। इसके बाद विपक्षी दलों ने इसे मुद्दा बनाते हुए यूपी सरकार पर निशाना साधा है।

आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जरूरतमंदों को दिए जा रहे सरकारी राशन किट भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है। सिंह ने ट्वीट किया, ‘सुलतानपुर में सरकार के राशन किट में सड़े आलू, नामक और दाल की घटिया क्वॉलिटी बांटी जा रही है। सरकार संकट के समय जरूरतमंद लोगों का मजाक उड़ाना बंद करे।’

आप ने यूपी की योगी सरकार को घेरा
इसके अलावा आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह ने भी घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सुल्तानपुर की घटना ने योगी सरकार द्वारा गरीबों को राशन बांटने की योजना की पोल खोल दी है। सीएम योगी की बातें सिर्फ हवा-हवाई हैं। इससे पहले भी सरकार द्वारा चलाई गई कम्युनिटी किचन से बंट रहे खाने की गुणवत्ता बेहद खराब निकली थी और अब सड़ा-गला, घटिया क्वॉलिटी का राशन वितरण किया जा रहा है। यह बेहद दुर्भागयपूर्ण है।

महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि इन घटनाओं से ऐसा प्रतीत होता है कि राशन वितरण के नाम पर घोटाले का बड़ा खेल चल रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि योगी सरकार कोरोना वायरस के मरीजों और क्वारंटीन किए गए लोगों का समुचित इलाज, देखभाल नहीं कर पा रही है। लोगों की टेस्टिंग नहीं हो पा रही है। राशन बांटने के नाम पर बड़ा खेल चल रहा है। डॉक्टर और पुलिस को PPE किट नहीं मिल पा रही है, जिससे कोरोना योद्धा खुद वायरस की चपेट में आ रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अपनी वाहवाही लूटने के लिए योगी सरकार झूठे आंकड़े और झूठे दावे जनता के सामने पेश कर रही है।

कांग्रेस ने योगी सरकार को बताया संवेदनहीन
युवा कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता राजेश तिवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘गरीबी का इससे भद्दा मजाक और क्या होगा। ऐसे खाद्य पदार्थ जिनसे जानवर भी मुंह मोड़ लें वह गरीबों को परोसा जा रहा है। ऐसी संवेदनहीन सरकार और अधिकारियों को ईश्वर कभी माफ नहीं करेगा।’ घटिया राशन किट को लेकर अब विपक्षी पार्टियां भले ही सरकार पर हमलावर हों लेकिन अधिकारियों को यह मामूली सी भूल लगती है। जिस पर जांच और कार्यवाई का हल्का पर्दा डालकर मामले को रफा-दफा किया जा सके।

355 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.