नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक रद्द, सोमवार तक बची नेपाल के PM ओली की कुर्सी

नेपाल में राजनीतिक उठापटक लगातार जारी है। भारत के खिलाफ चीन का मोहरा बन चुके नेपाली प्रधानमंत्री केपी ओली के नेता उनके ही खिलाफ हो गये हैं। नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की अंदरूनी सियासी लड़ाई इतनी बढ़ गई है कि केपी शर्मा ओली की कुर्सी खतरे में है। फिलहाल, नेपाल के प्रधानंमत्री केपी शर्मा ओली के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार है। आज होने वाली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक रद्द कर दी गई है। अब ये बैठक सोमवार को होगी जिसमें ओली की कुर्सी पर फैसला लिया जा सकता हेै।

 
नेपाल में जारी सियासी संकट के बीच ओली की कुर्सी बचाने में चीन मदद कर रहा है। नेपाल में चीन की राजदूत होउ यानिका ने शुक्रवार को राष्ट्रपति से मुलाकात की थी। सूत्रों के मुताबिक, चीन नेपाल में जारी सियासी संकट में दखल दे रहा है। चीन और पाकिस्तान ने मिलकर भारत के खिलाफ नेपाल को उकसाया। नेपाल को उकसाने में चीन की राजदूत होउ यानिकी की बड़ी भूमिका है। होउ यानिकी नेपाल के प्रधानमंत्री से लगातार संपर्क में है। यानिकी नेपाल के कई बड़े नेताओं के भी संपर्क में है।
सूत्रों के मुताबिक, पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ अपने बहुमत नेताओं के साथ पार्टी से अलग होना चाहते हैं. प्रचंड ने कल राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी से मुलाकात की थी। नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के ज्यादातर सदस्य पीएम ओली के विरोध में हैं। 

4,329 total views, 12 views today

ये भी पढ़ें :-  भारतीय मूल की कमला हैरिस बनी उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार, डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से लड़ेगी चुनाव

Leave a Reply

Your email address will not be published.