‘हमारी पॉलिसी पार्टी नहीं देखती’- फेसबुक

अमेरिका की एक अखबार में छपी खबर में फेसबुक पर भारत में बीजेपी के नेताओं के हेट स्पीच को नज़रअंदाज करने के आरोप लगने के बाद सोशल मीडिया और इंटरनेट की दिग्गज कंपनी की ओर से सफाई पेश की गई है। फेसबुक ने अपने स्पष्टीकरण में कहा है कि उसकी पॉलिसी कोई पार्टी नहीं देखती है। कंपनी की तरफ से कहा गया है कि ‘कंपनी अपनी पॉलिसी बिना किसी पार्टी या राजनीति देखे लागू करती है।’

कंपनी की एक प्रवक्ता की तरफ से कहा गया, ‘हम हेट स्पीच और हिंसा भड़काने वाले कंटेंट पर रोक लगाते हैं और हम अपनी नीतियां बिना किसी की पार्टी या फिर राजनीतिक संबंध या पोजीशन देखे लागू करते हैं। हमें पता है कि हमें अभी बहुत कुछ करना है लेकिन हम इन नीतियों के लागू करने और अपने प्रयासों के नियमित आकलन को लेकर प्रतिबद्ध हैं ताकि निष्पक्षता और सटीकता बनी रहे।’

‘Wall Street Journal’ में एक लेख छपा है, जिसमें कहा गया है कि फेसबुक भारत में बीजेपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के हेट स्पीच और आपत्तिजनक सामग्री को जानबूझ कर नज़रअंदाज करने वाली नीति अपनाता है। लेख में फेसबुक के एक अधिकारी के हवाले से यह भी कहा गया है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं को दंडित करने से ‘भारत में कंपनी के कारोबार पर असर पड़ेगा।’ लेख में कहा गया है कि फेसबुक ने बीजेपी को लेकर व्यापक पैमाने पर गलत तरीके से प्राथमिकता दी है।

ये भी पढ़ें :-  अब ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर नजर आ सकते हैं शाहिद कपूर, नेटफ्लिक्स के साथ की 100 करोड़ की डील

इस मुद्दे को लेकर अब कांग्रेस सरकार के खिलाफ हमलावर हो गई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस लेख का हवाला देते हुए रविवार को बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर हमला किया उन्होंने कहा कि देश में RSS और बीजेपी पर फेसबुक और वॉट्सऐप पर नियंत्रण करते हैं। राहुल ने एक ट्वीट कर लिखा था। ‘भारत में फेसबुक और वॉट्सऐप पर बीजेपी और RSS का कब्जा है। ये इसके जरिए फेक न्यूज और नफरत फैलाते हैं। वे चुनाव को प्रभावित करने में भी इनका प्रयोग करते हैं। आखिरकार, अमेरिकी मीडिया में फेसबुक के बारे में सच बाहर आ गया।’

राहुल के इस आरोप पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पलटवार करते हुए कैंब्रिज एनालिटिका का केस याद दिलाया था, जिसमें कांग्रेस पर वोटरों को प्रभावित करने के लिए सोशल मीडिया मॉनिटरिंग के प्रस्ताव पर विचार करने का आरोप लगाया गया था।

410 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.