स्पूतनिक-5 के उत्पादन के लिए भारत के साथ साझेदारी पर विचार कर रहा है- रुसी अधिकारी

रुस ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 का दुनिया का पहला टीका बना लिया है, जिसके बाद से कई देशों ने इसकी मांग की है। वहीं रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) किरिल दमित्रिएव (Kirill Dmitriev) ने गुरुवार को कहा कि  स्पूतनिक-5 के उत्पादन के लिए भारत के साथ साझेदारी पर विचार कर रहा है।

बता दें कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने घोषणा की थी कि उनके देश ने कोविड-19 का दुनिया का पहला टीका बना लिया है जो ‘काफी प्रभावी’ तरीके से काम करता है और इस बीमारी के खिलाफ ‘स्थिर प्रतिरक्षा’ (Stable Immunity) देता है।

एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दमित्रिएव ने कहा कि लैटिन अमेरिकी, एशिया और पश्चिम एशिया के कई देश टीके के उत्पादन में इच्छुक हैं।

उन्होंने कहा, ‘इस टीके का उत्पादन बेहद महत्वपूर्ण मुद्दा है और फिलहाल हम भारत के साथ साझेदारी की उम्मीद कर रहे हैं। यह कहना बेहद महत्वपूर्ण है कि टीके के उत्पादन के लिये होने वाली यह साझेदारियां हमें मांग को पूरा करने में सक्षम बनाएंगी।’ दमित्रिएव ने कहा कि रूस अंतरराष्ट्रीय सहयोग की उम्मीद कर रहा है।

ये भी पढ़ें :-  लद्दाख में महसूस किए गए तेज भूकंप के झटके 5.4 की तीव्रता से आया भूकंप

दमित्रिएव ने कहा, ‘हम बस रूस में ही नहीं, UAR, सऊदी अरब, और शायद ब्राज़ील और भारत में भी क्लीनिकल ट्रायल करेंगे। हम पांच देशों में यह वैक्सीन बनाने की योजना बना रहे हैं। एशिया, लैटिन अमेरिका, इटली और दुनिया के दूसरे कई देशों में वैक्सीन की डिलीवरी को लेकर मांग दिख रही है।’

504 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.