fbpx

गृह राज्य मंत्री केर पद पर रहते हुए अमित शाह को जाना पड़ा था जेल, अब बन गये देश के गृह मंत्री

भाजपा में सबसे कद्दावर नेता अमित शाह ने देश के गृह मंत्री का पद संभाला है। लेकिन एक समय ऐसा भी आया था। जब अमित शाह को गुजरात के गृह राज्य मंत्री के पद पर रहते जेल जाना पड़ा था।

दरअसल गुजरात में 2005 में जब नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री थे। तब यहाँ पर हुए सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ कांड हुआ था और इसे फर्जी मुठभेड़ कांड भी बताया गया और इस कांड में अमित शाह का नाम भी सामने आया। वही ये मामला 4 साल तक कोर्ट में चलने के बाद इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी।

जानकारी के अनुसार सोहराबुद्दीन शेख-तुलसीराम प्रजापति की हत्या इस तरह की गई की उसकी आंच गुजरात से लेकर राजस्थान के बड़े बड़े अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों तक पहुंची थी। हिस्‍ट्रीशीटर सोहराबुद्दीन शेख, उसकी बीवी कौसर बी और साथी तुलसी प्रजापति का गुजरात में फर्जी एनकांटर किया। इस मामले में सीबीआई ने 22 लोगों को आरोपी था। इस मामले में अमित शाह, गुलाबचंद कटारिया, गुजरात पुलिस अधिकारी और डीजी वंजारा का नाम शामिल था

गुजरात पुलिस ने 26 नवंबर 2005 को उसका फर्जी एनकाउंटर किया और उसके बाद उसकी पत्नी को तीन दिन बाद मरा हुआ बरामद किया गया। वहीं एक साल बाद गुजरात-राजस्थान सीमा पर प्रजापति को भी मुठभेड़ में मार गिराया था। खा जात्ता है कि लश्‍कर-ए-तोइबा व पाकिस्‍तान आतंकियों से उनके संपर्क थे। फर्जी मुठभेड़ मामले में 21 पुलिसकर्मियों समेत सभी 22 आरोपियों को सीबीआई ने बरी कर दिया था। 13 साल बाद कोर्ट ने फैसला सुनाया था। इस मामले में ज्यादातर पुलिस कर्मी ही शामिल थे। 2014 में अमित शाह को बरी कर दिया गया। उस वक्त वो गुजरात के गृह मंत्री थे।

वही 2014 के बाद अमित शाह का केंद्रीय दौरा शुरू हुआ और लोकसभा चुनाव में उन्हें यूपी की कंमान सौंपी गई और उसके बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश की 72 सीटों पर भाजपा जीत दिलवाई और उन्हें बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया गया और । 2019 के लोकसभा चुनाव में शाह गांधी नगर लोकसभा सीट से खड़े हुए और भारी जीत दर्ज कर, और मोदी कैबिनेट में शामिल हुए। और उन्हें गृह मंत्री का पद दिया गया।  

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.