इस कंडोम एड को लेकर आखिर क्यों मचा घमासान...

नवरात्री के लिए स्पेशल गुजरात के गरबे याद किए जाते है,नवरात्री के मौके पर गुजरात जगमगा जाता है , लेकिन इसी त्यौहार के बीच एक विषय है जो काफी सुर्खियो में छा रहा है। बता दे कि नवरात्री आने वाली है और इसको देखते हुए गुजरात के सूरत शहर में बॉलीवुड एक्ट्रेस सनी लियोनी का पोस्टर एक बड़ा विवाद बन गया है। दरअसल यह पोस्टर किसी फिल्म का पोस्टर नहीं बल्कि एक कंडोम के एड का पोस्टर है। जहा एक तरफ शहर में नवरात्री की तौयारिया चल रही है वही दूसरी तरफ शहर में विवादस्पद एड के पोस्टर लगे हुए दिख रहे है।

इन पोस्टर्स के लगने के बाद शहर में घमासान मच गया है। इस मामले में लोगो की अलग अलग प्रतिक्रिया आ रहीं है लोग इस पोस्टर्स पर गुस्सा जता रहे है कुछ लोग लगे हुए पोस्टरो का विरोध जता रहे है। हिंदू संगठन ने भी अपनी आवाज उठाई है और गुस्सा जताया है

 

कंडोम पोस्टर्स को हिन्दू संगठनो के कड़े विरोध के बाद पुलिस कमिश्नर ने इनको हटाने के आदेश दिया है। इन पोस्टर्स में बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी को मैनफोर्स कंडोम का प्रचार करते दिखाया गया है। पोस्टर पर लिखी पंक्तियो ने हिंदू धार्मिक संगठन को ठेस पहुंचाया जिससे बवाल मच गया है। बता दे कि लगे पोस्टर्स पर तीन पंक्ति मे लिखा हुआ है "दिस नवरात्रि, प्ले, बट विथ लव", इस पंक्ति को लेकर हिन्दू संगठनो ने कड़ा विरोध जताया। तस्वीरो मे आप यह पोस्टर देख सकते है। यह लाइन गुजराती भाषा में लिखी हुई है।

बता दें कि इन पोस्टर्स का एड नवरात्रि का सहारा लेकर किया जा रहा है, जिससे विरोध कर रहे लोगो द्वारा दावा किया जा रहा है कि पोस्टर में लिखी लाइन हिंदू संगठन को ठेस पहुंचा रही है।


मु्दा इतना उठा कि अब यह मामला सोशल मीडिया तक पहुंच गया है, व्हॉट्सएप्प और फेसबुक के साथ अन्य प्लेटफॉर्म पर यह तस्वीरें वायरल हो रही है और इनका विरोध शुरू हो गया। इसे देखते हुए सूरत पुलिस कमिश्नर ने इन पोस्टरों को तत्काल हटाने के निर्देश दिए है, जिसके बाद ये पोस्टर्स रातो-रात हटा दिए गए।


इन पोस्टर्स के चलते अभिनेत्री सनी की मुसीबते भी बढ़ती दिख रही है,बता दें कि इस बारे में केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान को लिखे पत्र में कैट ने इस विज्ञापन के निर्माता और लियोनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। और साथ ही विज्ञापन पर रोक लगाने की भी मांग रखी है। पत्र में कहा है कि कंडोम निर्माता कंपनी मैनफोर्स का यह विज्ञापन गुजरात के हर एक शहर में लगाया गया है। इस विज्ञापन का गलत तरीके से ऐड किए जाने की भी की गई है। पत्र में पासवान से इस विज्ञापन पर तत्काल रोक लगाने और इससे जुड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।