fbpx

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘मैं ही मोदी’ में कैसा राष्ट्रवाद

लोकसभा चुनाव के तीन चरणों में वोटिंग हो चुकी है और अब कल यानि 29 अप्रैल को चौथे चरण में वोटिंग होनी है। चुनावी मौसम में चुनावी माहौल भी काफी गर्म होता है। इसमें कई तरह के सवाल-जवाब भी होते हैं। ऐसे में ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भाजपा के राष्ट्रवाद पर सवाल उठाते हुए रविवार को कहा कि भाजपा प्रत्याशियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर वोट मांगना आखिर किस तरह का राष्ट्रवाद है ?

प्रियंका ने कहा ‘‘मैं ही मोदी’ में कौन सा राष्ट्रवाद है ? राष्ट्रवाद का क्या मतलब है…इसका मतलब है देशभक्ति और देशप्रेम। देश कौन है… देश की जनता और उसका प्रेम है। अगर आपको सिर्फ अपना ही मोह है तो यह कैसा राष्ट्रवाद है ?’

प्रियंका से पूछा गया था कि लोकसभा चुनाव में ज्यादातर भाजपा प्रत्याशी व्यक्तिगत छवि के बजाय मोदी के नाम पर वोट मांगते हुए ‘मैं ही मोदी’ नारे का सहारा ले रहे हैं। क्या राष्ट्रवाद से इसका कोई लेना-देना है?

प्रियंका गांधी ने मोदी की रैलियों में मौजूद भीड़ को लेकर तंज कसा और कहा कि पैसे के बलबूते जीप और बसों में भरकर लाखों की भीड़ इकट्ठा करके उनके सामने भाषण देना या प्रचार वाले संदेश देना बहुत आसान है। मगर लोगों की समस्याओं को हल करना ही असली बात है। प्रियंका ने कहा ‘‘जमीन पर सच्चाई बिल्कुल अलग है। जब आप लोगों से मिलेंगे, लोगों से बातचीत करेंगे तो उससे दूसरा संदेश निकलता है। वह संदेश मैंने ना तो कभी प्रधानमंत्री जी और ना ही भाजपा के नेताओं द्वारा ग्रहण करते हुए देखा। प्रधानमंत्री अपने ही क्षेत्र में एक भी गांव में नहीं गये, किसी से यह नहीं पूछा कि आपकी क्या समस्याएं हैं।’’

आपको बता दें कि प्रियंका शनिवार की रात संजय गांधी अस्पताल मुंशीगंज के गेस्ट हाउस पहुंचीं। प्रियंका अमेठी के गांवों में जा-जाकर अपने भाई कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का प्रचार कर रही हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.