fbpx

तुलसी का पौधा है काफी फायदेमंद, जानिए इसके अचूक गुण

भारत पूजा पाठ के लिए काफी प्रशिद्ध है|भारत के हिन्दू परिवारों में पौधे की काफी पूजा भी कि जाती है जिसमें से एक तुलसी का पौधा है जो भारत के कई घरों में पाया जाता है|बता दें तुलसी का पौधा पूजा पाठ करने के साथ साथ यह एक औषधीय पौधा भी माना जाता है,जिसका उपयोग बिमारियों को ठीक करने के लिए भी किया जाता है|आयुर्वेद के मुताबिक तुलसी के पौधे का हर भाग आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। दरअसल तुलसी की जड़, उसकी शाखाएं, पत्ती और बीज सभी का अलग अलग फायदे है, आज हम आपको इस पौधे के स्वास्थ्यवर्धक फायदों के बारे में कुछ बाते बताते है|

.श्वांस रोगों में तुलसी के पत्ते काले नमक के साथ सुपारी की तरह मुंह में रखने से आराम मिलता है।

.तुलसी की हरी पत्तियों को आग पर सेंक कर नमक के साथ खाने से खांसी तथा गला बैठना ठीक हो जाता है।

.तुलसी के पत्तों के साथ 4 भुनी लौंग चबाने से खांसी जाती है।

.खांसी-जुकाम में – तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च से तैयार की हुई चाय पीने से तुरंत लाभ पहुंचता है।

.10-12 तुलसी के पत्ते तथा 8-10 काली मिर्च के चाय बनाकर पीने से खांसी जुकाम, बुखार ठीक होता है।

.फेफड़ों में खरखराहट की आवाज़ आने व खांसी होने पर तुलसी की सूखी पत्तियां 4 ग्राम मिश्री के साथ देते हैं।

.काली तुलसी का स्वरस लगभग डेढ़ चम्मच काली मिर्च के साथ देने से खाँसी का वेग एकदम शान्त होता है।

.10 ग्राम तुलसी के रस को 5 ग्राम शहद के साथ सेवन करने से हिचकी, अस्थमा एवं श्वांस रोगों को ठीक किया जा सकता है।

.खांसी अथवा गला बैठने पर तुलसी की जड़ सुपारी की तरह चूसी जाती है।

.तुलसी के कोमल पत्तों को चबाने से खांसी और नजले से राहत मिलती है।

Subscribe Our YouTube Channel
Subscribe Our YouTube Channel
Subscribe Our YouTube Channel

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.