fbpx

इंद्र देवता को खुश करने के लिए कराई गई ‘मेंढकों’ की शादी

क्या आपने कभी सुना या देखा है कि किसी भगवन को खुश करने के लिए किसी जीव जंतु का विवाह करा दिया जाता हो|आप भी ये पढ़कर सोच रहे होंगे की आखिर ये किस बारे में बताने की कोशिश कर रहे है|दरअसल हाल ही में कर्नाटक से ऐसी खबर आई जिसने हर किसी को सोचने पर मजबूर कर दिया| ये एक ऐसी खबर है जिसे सुनकर आप सभी हैरान हो जायेंगे|

हुआ यूँ की उडुपीव में बारिश के देवता को खुश करने के लिए और राज्य में बारिश कराने के लिए दो मेढ़कों की शादी कराई गई|

दरअसल उडुपी नागरिक समिति और पंचरत्न सेवा ट्रस्ट ने शनिवार को एक होटल में यह विवाह कराया गया| इस विवाह के बाद उडुपी के कलसंका के मेढ़क ‘वरुण’ और किलिंजी के कोलालागिरि की मेढ़की ‘वर्षा’ को पति-पत्नी घोषित कर दिया गया|

 इस विवाह कराने वाले न्यास के महासचिव नित्यानंद ओलाकुडू ने बताया कि ‘मानडूका कल्याणोत्सव’ का आयोजन बारिश कराने वाले देवता को खुश करने के लिए कराया गया था| दरअसल उडुपी जिले में लंबे समय से बारिश ना होने के कारण क्षेत्र पानी की कमी से लोग जूझ रहे है|

 बता दें,मेढ़क के विवाह की पूरी प्रक्रिया भी काफी दिलचस्प रही| चार मेढ़क ले कर मनिपाल के जीवविज्ञान विभाग पहुंचे| जीव विज्ञानी ने मेढ़क से नर और मादा की पहचान कराई| उसके बाद ही दोनों को विवाह के लिए अलग अलग होटल में ले जाया गया था|

 आप बता दें,लोगों ने मेढ़क की आरती उतारी और मादा मेढ़क को ‘करिमनी’ तथा ‘बिछुआ’ पहनाया| उनकी शादी के लिए कार्ड भी छपवाए गए थे और लोगों को हर शादी की तरह दावत भी दी गई|

Subscribe Our YouTube Channel
Subscribe Our YouTube Channel
Subscribe Our YouTube Channel

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.