बुराड़ी कांड के बाद अब हजारीबाग में एक ही परिवार के 6 लोगो ने की आत्महत्या

दिल्ली का बुराड़ी कांड याद है आपको जिसमें एक ही घर के 11 लोगो ने ईश्वर से मिलने की चाह में अपने आप को फांसी लगा दी थी। लेकिन अब बुराड़ी कांड के बाद झारखण्ड के हजारीबाग का नया मामला सामने आया है जहां पर एक ही परिवार के 6 लोगो ने आत्महत्या कर ली है।

इस बार मामला किसी अन्धविश्वास का नही है बल्कि कुछ और ही है। मरने वाला परिवार झारखण्ड के जाने माने ड्राई फ्रुट व्यवसायी महावीर प्रसाद माहेश्वरी का है। मामला झारखण्ड के हजारीबाग में सीडीएम शुभम आपर्टमेंट का है। घर में रहने वाले 4 सदस्यों ने आत्महत्या और 2 की हत्या की गई है। घर में रहने वाले सास ससुर ने फंदे से लटककर आत्महत्या की है और 10 साल के पोते और 7 साल की पोती का गला घोटकर हत्या की है। घर के 2 सदस्य बेटे का शव आपर्टमेंट गेट पर और बहु का शव घर के बेड पर मिला है। इस पूरे मामले पर पुलिस ने बताया कि घर में से 6 अलग अलग सुसाइड नोट मिले है। जिसके आधार पर यह तय है कि 4 लोगो ने आत्महत्या की है और नाबालिक बच्चों की हत्या की गई है।

6 सुसाइड नोट में क्या लिखा है –

सुसाइड नोट को दो अलग अलग रंग की स्याही से लिखा गया है। जिसमें लाल स्याही से लिखा है कि बेटे अमन को लटका नही सकते इसलिए उसकी हत्या की गई है। जिसके नीचे नीली स्याही से मोटे अक्षरों से सुसाइड नोट लिखा गया है कि “बीमारी+दुकान+बन्द+दुकानदारों का बकाया न देना+बदनामी+कर्ज= तनाव (टेंशन) = मौत”।

इसके आधार पर यह कहा जा रहा है कि कर्ज के बोझ तले इन सब ने मौत को गले लगा लिया। लेकिन इन सबके बीच परेशान करने वाली बात यह है कि घर के इकलोते बेटे का शव आपर्टमेंट के नीचे मिला है तो शायद उसने अंत में छत से कूदकर आत्महत्या की होगी। लेकिन चौकानें वाली बात यह है कि शरीर में किसी तरह का कोई निशान नही है और न ही घटनास्थल पर खून या खून के निशान मिले है। खैर स्थानीय पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है और छानबीन कर रही है कि मामला हत्या का है या फिर आत्महत्या का।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Sourav Shukla

Sourav Shukla is an Indian Journalist. He is an alumni of ISOMES News 24.

Leave a Reply

Your email address will not be published.