fbpx

CM अमरिंदर सिंह का ऐलान भर्ती और प्रमोशन से पहले कराना होगा डोप टेस्ट

देश की उन्नती के लिए देश के युवकों की सेहत का ठीक होना बेहद महत्तवपूर्ण है। ये बहुत जरूरी है कि सभी देशवासी नशे से दूर रहें। दरअसल नशों के खिलाफ कार्रवाई में सरकार ने एक और बढा कदम उठाया है। सरकार ने अब आगे बढ़ते हुए भर्ती और प्रमोशन से पहले सभी मुलाजिमों का डोप टेस्ट अनिवार्य कर दिया है। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुख्य सचिव को इसकी रूपरेखा तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

हालांकि पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने सिर्फ पुलिस भर्ती के दौरान ही डोप टेस्ट अनिवार्य कराया था। सूत्रों के मुताबिक सीएम ने भर्ती और प्रमोशन के सभी मामलों में ड्रग स्क्रीनिंग करने के आदेश दिए हैं। इसी तरह पंजाब के सभी सिविल और पुलिस मुलाजिमों की सालाना डॉक्टरी जांच के दौरान भी यह अनिवार्य होगा। बता दें कि पिछले तीन दिनों से नशों के खात्मे के लिए सीएम द्वारा की जा रही पहल का यह भी हिस्सा है। इससे पहले पंजाब कैबिनेट नशा तस्करों को मौत की सजा देने की सिफारिश केंद्र से करने पर मोहर लगा चुकी है।

बता दें कि मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कुछ दिन पहले ही दावा किया था कि पंजाब में ड्रग्‍स सप्‍लाई करने वाले सबसे बड़े तस्‍कर का पता लगा लिया गया है। उस समय दावा किया गया था कि ड्रग्‍स तस्‍कर इस समय हांगकांग की जेल में बंद है और वहीं से पंजाब में नशे का कारोबार कर रहा है। इसी के चलते अब पंजाब सरकार ने ये फैसला लिया है कि ड्रग्‍स की स्‍मगलिंग और पैडलिंग करने वालों के खिलाफ पंजाब सरकार डेथ पेनल्‍टी का प्रावधान करेगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.