fbpx

12 हजार फीट ऊँची पहाड़ी पर मिला AN-32,लेकिन उसमे सवार यात्रियों का कोई सुराग नहीं

भारतीय वायुसेना ने AN-32 विमान का पता लगा ही लिया है| मंगलवार को सर्च ऑपरेशन के दौरान अरुणाचल प्रदेश में एएन-32 एयरक्राफ्ट का मलबा करीब 9 दिनों के बाद नजर आया। आपको बता दे की 3 जून को विमान ने असम के जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरी थी.इस विमान में कुल 13सदस्य मौजूद थे जिसमे से 8 वायुसेना थे और 5 स्थानीय लोग थे । उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही इसका संपर्क टूट गया था।
वायुसेना के हेलिकॉप्टर एमआई-17 ने टाटो के उत्तरपूर्व इलाके में करीब 12 हजार फीट की ऊंचाई पर इसका मलबा देखा गया| एयरफोर्स ने बताया की विमान के मलबे का पता चलने के बाद चीता ALH- हेलीकाप्टर और एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टरों को तैनात किया गया। लेकिन अत्याधिक ऊंचाई और घने जंगल के कारण घटनास्थल तक हेलिकॉप्टर नहीं पहुंच पाया|
दरअसल घटनास्थल के सबसे नजदीक लैंडिंग साइट की पहचान हो गई है|नौसेना के टोही विमान पी-8आई और इसरो के सैटेलाइट के जरिए भी की गई।
बता दें,जंगल काफी घना होने की वजह से पी-8आई एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल किया गया। यह विमान इलेक्ट्रो ऑप्टिकल और इन्फ्रारेड सेंसर्स से लैस था| बुधवार सुबह फिर से विमान रेस्क्यू अभियान की शुरुआत की जाएगी|
तो वहीं अब वायुसेना की कोशिश अब मलबे वाली जगह पर पहुंच ब्लैक बॉक्स और CVR की तलाश करने की है|

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.