fbpx

जानिए पत्रकार प्रशांत कनौजिया के योगी पर ट्वीट का पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ा ट्वीट करने के मामले इस समय चर्चा में बना हुआ है। और ये चर्चा उस समय जब इस मामले में   में पत्रकार प्रशांत कनौजिया को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद अब इस मामले परे बड़ा फैसला आया है।

दरसल इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को फैसला सुनाया है। इस फैसले में कोर्ट ने प्रशांत को तुरंत जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया है। वही अकी लोगो को इस मामले की जानकारी नहीं कि ये मामला क्या है

जानकारी के अनुसार 6 जून को प्रशांत कनौजिया ने हेमा नाम की एक महिला का वीडियो ट्विटर पर शेयर किया। वीडियो को शेयर करते हुए प्रशांत ने एक कमेंट भी लिखा था। वही शेयर किए विडियो में महिला (हेमा) पत्रकारों से बातचीत करते हुए योगी आदित्यनाथ से प्यार संबंधी दावे कर रही थी। महिला ने दावा किया कि वो पिछले एक साल से योगी आदित्यनाथ के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए टच में है। महिला का कहना था कि वो पूरे प्रकरण के चलते तनाव में है और योगी आदित्यनाथ को सामने आकर उससे बातचीत करनी चाहिए। क बाद उत्तर प्रदेश के लखनऊ स्थित हजरतगंज थाने में प्रशांत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। यह केस एक सब इंस्पेक्टर की शिकायत पर दर्ज हुआ। इस शिकायत में सीएम के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी और उनकी छवि खराब करने के आरोप लगाए गए थे। ज्सिएक बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिल्ली आकर प्रशांत के घर से उन्हें गिरफ्तार किया। प्रशांत की पत्नी जगीशा के मुताबिक, ये पुलिसकर्मी सिविल ड्रेस में आए थे।

वही इसके बाद प्रशांत की रिहाई के लिए उनकी पत्नी जगीशा ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया।जगीशा की याचिका पर जस्टिस इंदिरा बनर्जी और जस्टिस अजय रस्तोगी की वेकेशन बेंच ने सुनवाई की। सुप्रीम कोर्ट की इस बेंच ने प्रशांत कनौजिया को तुरंत जमानत पर रिहा कर दिया

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.