PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुआ बड़ा बदलाव, मंत्री, सांसद, विधायक नहीं कर पाएंगे मुलाकात

देश में जल्द ही लोक सभा चुनाव होने वाले है। वही इन चुनावों में बीजेपी का सबसे बड़ा चेहरा PM नरेंद्र मोदी ही होंगे,

और 2019 के चुनावों के लिए सबसे ज्यादा प्रचार मोदी को ही करना होगा। लेकिन इन चुनाव से पहले गृहमंत्रालय ने एसपीजी को कड़े निर्देश दिए है।

जानकारी के अनुसार गृहमंत्रालय ने एसपीजी और दूसरे सभी राज्यों से PM मोदी के सुरक्षा को कड़े इंतजाम करने का कहा है। वही गृहमंत्रालय ने सभी राज्यों के डीजीपी और एसपीजी को कहा है कि सार्वजनिक मंचों पर पीएम मोदी के नज़दीक किसी भी मंत्री, सांसद, विधायक को ना आने दिया जाए जब तक एसपीजी इस बात की मंजूरी न दे।

वही अब PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में एसपीजी के 12 से 16 कमांडो अब बॉडी कवर देंगे। पहले ये कमांडो शैडो कवर देते थे यानि कुछ दूरी बना कर रखते थे।

वही एसपीजी अब ब्रीफ़केस की तरह दिखने वाले बैलिस्टिक शील्ड से किसी भी मानव बम या फिदायीन हमले को रोकने के लिये क्लोज प्रोटेक्शन ग्रुप के कमांडो एक बजाय तीन बैलिस्टिक शील्ड के साथ रहेंगे। वही एसपीजी सुरक्षा का दूसरा घेरा काउन्टर असॉल्ट ग्रुप यानी सीएजी के अत्याधुनिक हथियारों से लैस 22 कमांडो का होगा। जिनकी जिम्मेदारी होगी कि कोई भी संदिग्ध को पीएम के नज़दीक ना पहुंच पाए।

गृहमंत्रालय के सूत्रों ने सुरक्षा के नए दिशा निर्देशों की जानकारी देते हुए कहा कि “खुफिया एजेंसियों ने पीएम की सुरक्षा को लेकर जो जानकारी दी थी उसके मुताबिक पीएम मोदी बीजेपी के स्टार प्रचारक होने के नाते 2019 में लगातार जनसभा करेंगे। मंच पर उम्मीदवार के अलावा कई स्थानीय नेता होंगे ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने की ज़रूरत है।

आपको बता दे कि PM मोदी की सुरक्षा में बदलाव इसलिए किया गया है क्योंकि हाल ही में पुणे पुलिस ने PM नरेंद्र मोदी को नक्सली हमले के खतरे के बारे में खुलासा किया था। नक्सलियों की साज़िश है थी पीएम मोदी को राजनैतिक रैली में राजीव गाँधी की तरह हत्या की जाए।

 

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.