fbpx

रेलवे ने किया बड़ा फैसला,अब पहचान पत्र की जगह ये ID कर पाएंगे इस्तेमाल

देश की आधे से ज्यादा जनता ट्रेन में सफ़र करती है। वही इस यात्रा के दौरन आपको सफ़र टीटीई के बोलने पर अपना पहचान पत्र दिखना पड़ता है। और अगर आप ऐसा नहीं करते है तो आपको इसके लिए जुर्माना भी भरना पड़ता है। लेकिन रेलवे बोर्ड इस परेशनी से बचने के लिए एक  नया रास्ता निकला है।

दरअसल ट्रेन में सफ़र करने के दौरान कई लोग अपना पहचान पत्र  भूल जाते है। जिसकी वजह से लोगो को काफी परेशनी का सामना  करना पड़ता है। लेकिन अब रेलवे बोर्ड ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके बाद अब जरुरी नहीं है कि आपको ट्रेन में सफ़र करने के दौरान  पहचान पत्र रखना ही हो। अब रेलवे द्वारा लिए गये नए फैसले के बाद अब पहचान पत्र की जगह डिजिटल आधार कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस भी दिखा सकते है। वही अगर आप डिजिटल लॉकर का इस्तेमाल करते हैं तो आपको ट्रेन से सफर के दौरान पहचान पत्र रखने की जरूरत नहीं है। डिजिटल लॉकर में रखे आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस को आप रेलवे में पहचान पत्र के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

वही भारतीय रेलवे ने यह संदेश सभी जोनल अधिकारियों को भेज दिया है। रेलवे ने यात्री के डिजिलॉकर में मौजूद आधार और ड्राइविंग लाइसेंस को आइडेंटीटी प्रूफ के तौर पर मान्यता दी है। रेलवे ने डिजिटल लॉकर में मौजूद आधार और ड्राइविंग लाइसेंस की सॉफ्ट कॉपी को पहचान पत्र के तौर पर मान्‍य कर दिया है।

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.