fbpx

क्या अरुण जेटली नहीं रहेंगे वित्त मंत्री?

जहां कुछ दिन पहले तक सबकी नजर लोकसभा चुनाव पर थी तो वहीं अब मोदी की जीत के बाद नई सरकार के गठन पर हैं।

दरअसल, साथ ही प्रधानमंत्री मोदी के दूसरे कार्यकाल में उनके मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले नेताओं पर भी चर्चा शुरू हो गई है। हालांकि, सबसे बड़ी चर्चा इस बात की है कि देश का अगला वित्त मंत्री कौन होगा, अरुण जेटली या फिर कोई और होगा।

वहीं सूत्रों की माने तो पिछली सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली इस बार मौका नहीं मिलेगा। इसके पीछे उनके खराब स्वास्थ्य को कारण बताया जा रहा है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह वित्त मंत्री पद के बड़े दावेदार बन सकते हैं। लेकिन यह वरिष्ठ मंत्री अपने नाम का खुलासा नहीं करने देना चाहते।

जानकारी के मुताबिक सूत्र बताते हैं कि 66 साल के अरुण जेटली एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी संभालने के लिए फिट नहीं हैं। पिछले कई महीनों से उनके स्वास्थ्य में लगातार उतार-चढ़ाव रहा है। एक अन्य सूत्र ने दावा किया कि निश्चित तौर पर वह वित्त मंत्री का पद लेने नहीं जा रहे क्योंकि उनकी तबीयत बेहद खराब है। जिम्मेदारी लेना बेहद तनाव बढ़ाने जैसा है।

वहीं, वर्तमान रेल और कोयला मंत्री पीयूष गोयल वित्त मंत्री के लिए उपयुक्त हो सकते हैं क्योंकि 2014 से 2019 के बीच मोदी सरकार के कार्यकाल में अरुण जेटली के बीमार होने की सूरत में वह 2 बार वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाल चुके हैं।

बता दें कि बीजेपी में अरुण जेटली की हैसियत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के बाद तीसरे सबसे बड़े नेता के रूप में रही है। जेटली गुरुवार रात बीजेपी की ऐतिहासिक जीत के बाद बीजेपी मुख्यालय में आयोजित जश्न समारोह में भी नहीं दिखे थे। जबकि पीएम मोदी और अमित शाह दोनों ने जीत के बाद जोरदार भाषण दिया था।

अरुण जेटली पिछले 2 हफ्तों से सार्वजनिक तौर पर दिखाई नहीं दिए हैं, हालांकि वह सोशल मीडिया पर अपने ब्लॉग या मैसेज पोस्ट करते रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.