वाराणसी: PM के कार्यक्रम के लिए क्यों बुलाई 700 मुस्लिम महिलाएं...

  • वाराणसी: PM के कार्यक्रम के लिए क्यों बुलाई 700 मुस्लिम महिलाएं...

खबर_संवाददाता - Shaini

On 2017-09-18 10:57:07 2789

उत्तर प्रदेश सरकार ने पीएम नरेंद्र मोदी के वाराणसी मे हो रहे कार्यक्रम में मुस्लिम महिलाओं को शामिल करने की पूरी जिम्मेदारी मदरसों को सौंप दी है। यह खास कार्यक्रम मु्स्लिम महिलाओ के लिए रखा गया है, आयोजित कार्यक्रम में पीएम अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं से बातचीत करेंगे। इस कदम का मदरस शिक्षकों की एक संस्था ने विरोध जताया है।

जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी विजय प्रताप यादव ने जिले के सभी फंडेड और गैर फंडेड मदरसों को पत्र भेजा और लिखा कि 22 सितंबर को वाराणसी के डीएलडब्ल्यू में एक कार्यक्रम आयोजित किया है जिसमें पीएम मोदी अल्पसंख्यक महिलाओं के साथ चर्चा करेंगे। कार्यक्रम में 700 महिलाओं के बैठने की व्यवस्था रखी गई है। आमंत्रित महिलाओ को कार्यक्रम स्थल पर पहुंचाने की सारी जिम्मेदारी मदरसों को दी गई है।

बीते 15 सितंबर को लिखी गयी इस चिट्ठी में कहा गया है कि मदरसे कम से कम 25-25 महिलाओं को कार्यक्रम स्थल तक पहुंचाए और आयोजन का हिस्सा बनाए। इसी मसले में एक बैठक रखी जाएगी जो जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी के कार्यालय में तय की गई है, जिसमें मदरसे के एक शिक्षक या शिक्षणेत्तर कर्मचारी को नॉमिनेट कर भेजा जाए, ताकि पीएम के कार्यक्रम के बारे में चर्चा की जाए।

इन सभी के बीच, टीचर्स एसोसिएशन मदारिस अरबिया उत्तर प्रदेश के महासचिव दीवान साहब जमां ने इस अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी के इस खत में लिखी गई बातो का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने मदरसों को बीजेपी कार्यकर्ताओं वाला काम सौंप दिया है।

 

उन्होंने आदेश को वापस लेने की मांग की

आपको बता दे कि पीएम नरेंद्र मोदी 22 सितंबर को वाराणसी जा रहे है, वो दो दिन के दौरे पर जा रहे है। इस दौरान वे रामनगर के सामने घाट पुल और बलुआघाट पुल का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा वह डीएलडब्ल्यू की कई परियोजनाओं के रखे कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे और उद्घाटन करेंगे। साथ ही उनका मुस्लिम महिलाओं के साथ संवाद का भी कार्यक्रम आयोजित किया गया है।