तो क्या जंग चाहता है चीन ?

  • तो क्या जंग चाहता है चीन ?

खबर_संवाददाता - Deepak

On 2017-10-06 14:46:03 2826

डोकलाम को लेकर भारत और चीन के बीच भले हीं गतिरोध खत्म हो गए है लेकिन चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। चीन ने डोकलाम से सटे अपने बेस पर सैनिकों संख्या बढ़ा रहा है। जिससे बोर्डर पर तनाव और बढ़ सकते हैं और साथ ही स्थिति और भी तनावपूर्ण हो सकते है। जिससे संकेत मिल रहा है की दोनों देशों के बीच कोई तनाव कम नहीं हुई है।

 

सूत्रों के मुतबिक चीन ने हजारो की संख्या में अपने सैनिको की संख्या बढ़ा रहा है। जिससे स्थिति और भी बिगड़ सकती है और भारतीय आलाकमान को मंथन करने पर मजबूर कर चुकी है।

 

दो महीने से ज्यादा समय तक आमने सामने थी सेना

आपको बता दें की चीन ठीक उसी जगह पर अपनी सेना की तैनाती बढ़ा रहा है जिस जगह बार भारतीय और चीनी सैनिक आमने सामने थे। डोकलाम पठार में चुंबी घाटी में चीनी बलों की मौजूदगी पर वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने संवाददाताओं से कहा, "दोनों पक्ष सीधे तौर पर आमने-सामने नहीं हैं। हालांकि चुंबी घाटी में अब भी उनके जवान तैनात हैं और मैं आशा करता हूं कि वे वापस चले जाएंगे क्योंकि इलाके में उनका अभ्यास पूरा हो गया है"।

 

भारत और चीन की सेनाएं भूटान के डोकलाम में 16 जून से 73 दिन तक आमने सामने थे। जिसकी वजह से गतिरोध की स्थिति बन गयी थी। गतिरोध का कारण चीन द्वारा विवादित क्षेत्र में एक सड़क के निर्माण पर रोक को लेकर शुरू हो गयी थी। गतिरोध के दौरान भूटान और भारत एक दूसरे से संपर्क में रहे जो 28 अगस्त को समाप्त हुआ। लेकिन अब खबरें आ रहीं हैं कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने यातुंग में अग्रिम चौकी पर सैनिकों की संख्या और बढ़ा दी है।