fbpx

ईवीम मशीन को लेकर फिर हुआ बवाल, मशीन पर केवल भाजपा का चिन्ह है

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण की वोटिंग हो चुकी है और अब चौथे चरण की वोटिंग कल यानि 29 अप्रैल को होगी। इस दौरान चौथे चरण की वोटिंग से पहले विपक्षी दल ने एक बार फिर चुनाव आयोग के पास ईवीएम से जुड़ी बात पर शिकायत की। दरअसल, शनिवार को कांग्रेस, तृणमूल और अन्य दलों के नेता इस मुद्दे पर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से मिले। विपक्षी दल का आरोप है कि पश्चिम बंगाल के बैरकपुर संसदीय क्षेत्र में ईवीएम में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के चुनाव चिन्ह के ठीक नीचे पार्टी का नाम लिखा है। बाकी किसी पार्टी का नाम चिन्ह के साथ मौजूद नहीं था। विपक्षी दल ने कहा कि ये गैरकानूनी है और इसकी जांच होनी चाहिए। विपक्ष की मांग है कि मतदान से पहले इन मशीनों को हटाना चाहिए।

वहीं इस बात पर चुनाव आयोग ने भी साफ किया कि मशीनों पर भाजपा का चिन्ह आखिरी बार 2013 में अपडेट हुआ था। तब से इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया।

विपक्षी नेताओं में कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी,  अहमद पटेल,  तृणमूल के दिनेश त्रिवेदी,  डेरेक ओ ब्रायन शामिल थे। कांग्रेस प्रवक्ता सिंघवी ने कहा कि, ईवीएम पर चिह्न के स्थान पर सिर्फ भाजपा लिखा नजर आ रहा था। विपक्ष का आरोप है कि ईवीएम में उम्मीदवार का नाम और फोटो तो होता है लेकिन चुनाव चिन्ह के नीचे पार्टी का नाम नहीं होता।

फिलहाल तो 29 अप्रैल, सोमवार को चौथे चरण का मतदान है। ऐसे में आयोग के फैसले पर सभी पार्टियों की नजर रहेगी। आपको बता दें कि ये पहली बार नहीं है विपक्षी दल हमेशा किसी ना किसी बात पर चुनाव आयोग से शिकायत करता रहता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.