fbpx

इस गाँव में चलते-चलते सो जाते है, जानिए क्या है कारण

वैसे तो ज़्यादातर लोग रात के ही समय में सोते है लेकिन क्या आपने किसी को चलते-चलते एकदम से सोते हुए देखा है? अब आप सोचेंगे कि कोई चलते-चलते कैसे सो सकता है, लेकिन यहां पर एक ऐसा गांव भी है जहां पर रहने वाले सारे लोग चलते-चलते या फिर कुछ काम करते-करते ही सो जाते हैं। ये गावं स्थित है कजाकिस्तान में।

कजाकिस्तान का एक गाँव कलाची है, जहाँ पर लोग कुंभकरण की तरह सो जाते हैं। यहाँ के लोग एक बार सो जाते हैं तो कई दिनों या कई महीनों तक नहीं उठते। कई बार तो ऐसा भी हुआ है कि कई हफ्तों तक सोए रहने से उन लोगों की मौत भी हो गई है। वहीं यहां के जानवरों पर इसका कोई असर नहीं पड़ता है, ये जानकर वैज्ञानिक भी हैरान हैं। यहां इस तरह सोने का पहला मामला साल 2010  में सामने आया था और तब से वैज्ञानिक और शोधकर्ता इस पर शोध कर रहे हैं।  वैज्ञानिकों के अनुसार, इस गांव में 800 लोग रहते हैं। जिनमें से लगभग 200 लोग इस परेशानी से जूझ रहे हैं।

किस वजह से हो जाती है यहां पर लोगो की मौत:-

वैज्ञानिकों के अनुसार इस गांव में हाइड्रो कार्बन मोनोऑक्साइड का स्तर बहुत ज़्यादा बढ़ गया है। जिसकी वजह से यहां के लोग पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं ले पा रहे है। वैज्ञानिकों के एक बार फिर शोध किया और उनके शोध से पता चला कि इस गांव के आसपास में यूरेनियम की खदान स्थित है। जहां से बहुत ज्यादा मात्रा में कार्बन मोनोऑक्साइड का निकास हो रहा है। फिलहाल तो वैज्ञानिक ज़्यादा कुछ पता नहीं कर पाएं है। यहां की परेशानियों को देखते हुए कजाकिस्तान की सरकार ने यहां के लोगों को दूसरी जगह रहने के लिए भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.